Video SEO : Title क्या है? Youtube Videos के लिए Best Title कैसे लिखें?

video-seo-title

यह Video SEO का दूसरा भाग है। पिछले भाग में हमने Video SEO के प्रकार, तरीके और Keywords के बारे चर्चा की थी। इस भाग में हम इसी चर्चा को आगे बढ़ाते हुए एक नये टॉपिक पर बात करेंगे। और आज का हमारा टॉपिक है Video SEO : Title यानि कि वीडियो का शीर्षक। इस आर्टिकल में आप जानेंगे कि Title क्या होता है? एक वीडियो के लिए इसकी क्या अहमियत होती है? Youtube Videos के लिए सही टाईटल का चुनाव कैसे करें? और टाईटल को लिखने का सही तरीका क्या है? अगर आप एक यूट्यूबर हैं तो यह आर्टिकल आपके लिए बेहद उपयोगी साबित होगा। इसलिए इसे पूरा पढ़िएगा।

Video SEO : Title

एक बहुत ही कड़वी, मगर सच्ची बात बताता हूँ। दरअसल यूट्यूब पर 80% से ज्यादा Creators को वीडियो का Title लिखना नहीं आता। जी हाँ! सुनने में भले ही यह आपको अजीब लगे, लेकिन सच है। अब आप सोच रहे होंगे कि ये शायद वे बच्चे हैं जो किसी बड़े यूट्यूबर से प्रभावित होकर बिना जानकारी प्राप्त किए यूट्यूब पर आ गए हैं। लेकिन मैं आपको बता दूँ कि ऐसा बिल्कुल नहीं हैं। क्योंकि इनमें से ज्यादातर यूट्यूबर्स काफी समय से यूट्यूब पर हैं। और कई तो तीन-तीन सौ वीडियोज अपलोड कर चुके हैं। लेकिन इसके बावजूद वे अभी तक गलत Title लिख रहे हैं।

नये Youtubers का तो चलो तो फिर भी समझ में आता है, क्योंकि उनके पास अनुभव नहीं होता। लेकिन जो लोग सालों से Youtube पर हैं। और अब तक सैंकड़ों Videos Upload कर चुके हैं, उनके पास तो अच्छा-खासा अनुभव है। मगर फिर भी वे सही ढंग से टाईटल नहीं लिख पाते। जानते हो क्यों? क्योंकि वे दूसरों को सिखाने में इतने ज्यादा व्यस्त हो जाते हैं कि खुद के सीखने के लिए समय ही नहींं निकाल पाते। हमेशा टाइम पर वीडियो अपलोड करने का प्रेशर रहता है। ऐसे में वे नवाचारों (नई चीजों) को कब सीखेंगे? और खुद को Improve कैसे करेंगे? जाहिर सी बात है नहीं कर पाऐंगे। जबकि यह सबसे जरूरी चीज है।

अवश्य पढ़ें: Video SEO क्या है? Youtube वीडियोज का SEO क्यों जरूरी है व कैसे करें?

एक Youtuber के लिए सिर्फ अपने चैनल पर Videos अपलोड करना ही काफी नहीं है। बल्कि उसे यूट्यूब के बारे में भी पर्याप्त जानकारी होनी चाहिए। क्योंकि समय-समय पर यूट्यूब का Algorithm लगातार बदलता रहता है और नई-नई Techniques आती रहती हैं। इसलिए बतौर एक यूट्यूबर, आपको इन बदलावों के बारे में जानकारी होनी चाहिए। तभी आप अपनी SEO Techniques में बदलाव कर पाऐंगे। और अपने वीडियोज को SEO Friendly बना पाऐंगे। यानि कि यूट्यूब के अल्गोरिदम के हिसाब से अपने वीडियोज को अप-टू-डेट रख पाऐंगे। तो आइए, जानते हैं Title के बारे में…

Title क्या होता है?

दरअसल, “Title एक Video का सबसे संक्षिप्त Description होता है।” इस वाक्य को एक आदर्श वाक्य की तरह अपनी दीवार पर लिखवा लें और जब भी वीडियो का टाईटल सोचें, इस पर एक नजर जरूर डालें। क्योंकि यह Title की सबसे छोटी और सम्पूर्ण परिभाषा है। इसकी गहराई को समझिए। इसमेंं पूरे वीडियो का सार है। एक वीडियो के अंदर क्या-क्या मौजूद है? यह उसके Description से पता चलता है। और उसी डिस्क्रिप्शन का सबसे संक्षिप्त रूप है Title, यानि शीर्षक।

अवश्य पढ़ें: अपने एंड्रॉयड स्मार्टफोन की कड़ी सुरक्षा के लिए अपनाऐं ये 10 जरूरी टिप्स

दरअसल Title ही वह वाक्य/वाक्यांश है, जिसे देखकर एक Viewer यह जान पाता है कि उसे वीडियो के अंदर क्या-क्या मिलेगा? हालांकि यूट्यूब पर इस मामले में Thumbnail भी काफी अहम भूमिका निभाता है, लेकिन इससे टाईटल की अहमियत कम नहीं हो जाती। क्योंकि थम्बनेल के बाद टाईटल ही ऐसी चीज है, जिस पर Viewer की सबसे पहले नजर पड़ती है। और जो चीज थम्बनेल देखकर समझ में नहीं आती, वह टाईटल पढ़कर अच्छी तरह समझ में आ जाती है। इसलिए Title का स्पष्ट, संक्षिप्त और दमदार होना बेहद जरूरी है।

Video SEO : Title का महत्व

Video SEO में Title का बहुत अधिक महत्व है? दरअसल Youtube पर एक Viewer एक वीडियो का Title और Thumbnail देखकर ही तय करता है कि उसे उस वीडियो पर क्लिक करना है या नहीं। अब आप सोच रहे होंगे कि इसके लिए तो अकेला Thumbnail ही काफी है, फिर Title की क्या जरूरत है? तो मैं आपको बताना चाहूँगा कि टाईटल और थम्बनेल दोनों का काम अलग है। जो काम टाईटल का है, वह सिर्फ टाईटल ही कर सकता है, थम्बनेल नहीं। जिस तरह तलवार और चाकू दोनों ही काटने के काम आते हैं। लेकिन जाहिर-सी बात है सब्जी काटने के लिए तलवार का इस्तेमाल नहीं किया जा सकता।

अवश्य पढ़ें: Cardless Cash Withdrawl क्या है? इससे बिना कार्ड के ATM से Cash कैसे निकालें?

खैर, Thumbnail के बारे में हम अगले भाग में बात करेंगे। क्योंकि यह आर्टिकल Title के बारे में है, इसलिए इस भाग में हम सिर्फ टाईटल के बारे में बात करेंगे। तो जैसा कि पिछले भाग में आपने जाना कि Search Engines के जो Robotic Bots होते हैं, वे सिर्फ Texts को पढ़ते है। और चूँकि टाईटल Text के फॉर्म होता है, इसलिए सर्च इंजन्स उसे आसानी से पढ़ सकते हैं। जबकि थम्बनेल एक इमेज होती है, जिसे सर्च इंजन्स पढ़ नहीं पाते। इसलिए Youtube Video को थम्बनेल के साथ-साथ Title की जरूरत पड़ती है।

Title का चुनाव कैसे करें?

जैसा कि आप सब जानते हैं कि Title पूरे वीडियो का प्रतिनिधित्व करता है। यानि कि टाईटल देखकर ही पता चलता है कि वीडियो के अंदर क्या-क्या है? इसलिए टाईटल, पूरे वीडियो से Related होना चाहिए, न कि वीडियो के किसी एक भाग से। जैसे कि अगर आप Aadhar Card पर कोई वीडियो बना रहे हैं और उसमें एक से ज्यादा बिन्दुओं पर चर्चा कर रहे हैं। जैसे कि आधार कार्ड क्या है? आधार कार्ड को बैंक खाते से कैसे लिंक करें? और आधार कार्ड को बैंक खाते से डीलिंक कैसे करें? और आपने टाईटल रखा What is Aadhar Card? तो यह एक सम्पूर्ण टाईटल नहीं हुआ बल्कि यह अधूरा है। क्यों अधूरा है?

अवश्य पढ़ें: आखिर Brave Browser लोगों को इतना ज्यादा पसंद क्यों आ रहा है? टॉप-10 कारण

क्योंकि यह पूरे वीडियो का प्रतिनिधित्व नहीं करता। इसे पढ़कर Viewer को पता ही नहीं चलेगा कि वीडियो के अंदर आधार कार्ड को बैंक खाते से Link और Delink करने की प्रोसेस भी बताई गई है। Title पढ़कर यही लगेगा कि वीडियो के अंदर सिर्फ “आधार कार्ड क्या है?” – इसी के बारे में जानकारी दी गई है। जबकि वीडियो के अंदर आपने और भी बहुत कुछ बताया है। इसलिए इस तरह के आधे-अधूरे टाईटल रखने से बचें। टाईटल ऐसा रखें, जिसमें वीडियो के पूरे कंटेंट की जानकारी हो। जैसे कि इस वीडियो के लिए पूरा टाईटल होगा “What is Aadhar Card? How to link and delink Aadhar Card from bank account.”

सही Title कैसे चुनें?

सही टाईटल क्या है? इस विषय पर घंटों बहस की जा सकती है। लेकिन मेरे हिसाब से सही टाईटल वह है जो पूरे Video से सम्बद्ध हो, वीडियो के मूल विषय और कंटेंट के बारे में स्पष्ट जानकारी देता हो और SEO के नियमों का पालन करता हो। कहने का मतलब यह है कि टाईटल से वीडियो के अंदर मौजूद कंटेंट का ठीक-ठीक अंदाजा हो जाना चाहिए। मन में कोई उलझन नहीं रहनी चाहिए। वरना Viewer वीडियो देखने की बजाय आगे बढ़ जाएगा। इसलिए अपने Youtube Videos के लिए हमेशा सही और स्पष्ट Title चुनें। कैसे? आइए, जानते हैं।

Title लिखने का तरीका

टाईटल एक ऐसा जादुई वाक्य होता है, जो किसी को भी Video पर क्लिक करने के लिए मजबूर कर देता है। लेकिन इस तरह का Title लिखने के लिए आपको Video SEO की अच्छी-खासी समझ होनी चाहिए। क्योंकि Video SEO में Title लिखने का एक निश्चित प्रारूप (Format) होता है। यानि कि टाईटल में किन-किन चीजों को शामिल किया जाता है? कहाँ कौनसा Keyword इस्तेमाल किया जाता है? कौनसी चीज पहले आती है और कौनसी चीज बाद में, इसका एक निश्चित फॉर्मेट होता है। इसी फॉर्मेट के अनुसार वीडियो का टाईटल लिखा जाता है।

अवश्य पढ़ें: Quora क्या है? क्या यह ऑनलाइन कमाई के लिए सबसे आसान और भरोसेमंद विकल्प है?

अब आप यह जानने को काफी उत्सुक होंगे कि टाईटल लिखने का सही फॉर्मेट क्या है? तो मैं आपको बताना चाहूँगा कि इसके लिए आपको Keywords की जरूरत पड़ेगी। इसलिए सबसे पहले तो आप Keyword Research करके अपने वीडियो से Related टॉप रैंक वाले 20-25 Keywords की एक सूची तैयार कर लीजिए। उसके बाद वीडियो के Topic को ध्यान में रखते हुए सबसे High Rank वाले 2-3 Keywords को छांटकर अलग कर लीजिए। ध्यान रहे, ये कीवर्ड्स Focus Keyword के अलावा हैंं। यानि कि फोकस कीवर्ड इनमें शामिल नहीं है।

अब अपने टॉपिक के हिसाब से एक या दो ऐसे वाक्य बनाइए, जिनमें वीडियो का टॉपिक पूरी तरह क्लीयर हो जाए। यानि कि वीडियो का मुख्य विषय अच्छी तरह समझ में आ जाए। जैसे कि अगर आप वीडियो में यूट्यूब के बारे में जानकारी देते हुए Youtube Join करने का तरीका बता रहे हैं तो आपका टाईटल कुछ इस तरह हो सकता है :- What is youtube? How to become a youtuber? यह एक ‘दो वाक्य वाला टाईटल’ है। अब आप कहेंगे कि इससे क्या फर्क पड़ता है तो आपको बताना चाहूँगा कि इससे बहुत फर्क पड़ता है। दरअसल Video SEO में टाईटल की लम्बाई बहुत मायने रखती है।

अवश्य पढ़ें: फोन की स्क्रीन से निकलने वाली Blue Light क्या है और इसके क्या-क्या नुकसान हैं?

Title की Lenght

यूट्यूब पर टाईटल के लिए एक तय शब्द-सीमा (100 शब्द) है। लेकिन ये 100 शब्द अकेले Title के लिए नहीं हैं। इनमें ब्रांडिंग और लैंग्वेज भी शामिल है। इस तरह टाईटल के लिए सिर्फ 75 से 80 शब्द ही बचते हैं। अब अगर आपके टाईटल में दो से ज्यादा वाक्य हैं तो टाईटल काफी लम्बा हो जाएगा और उसमें ब्रांडिंग और लैंग्वेज के लिए जगह नहीं बचेगी। इसलिए टाईटल हमेशा छोटा रखें। और कोशिश करें कि उसमें दो से ज्यादा वाक्य न होंं। अगर हों भी तो वे छोटे हों, जिससे टाईटल की लम्बाई न बढ़े। अगर टाईटल में तीन-चार वाक्य हों तो उन्हें एक वाक्य में मर्ज कर दें।

जैसे कि अगर आपके वीडियो का टाईटल “मलेरिया क्या है? मलेरिया क्यों होता है? इसके लक्षण क्या हैं? इससे कैसे बचा जा सकता है?” है। तो आप इसे कुछ इस तरह मर्ज करके लिख सकते हैं, “मलेरिया क्या है? कारण, लक्षण व बचाव के उपाय।” यहाँ ध्यान रखने वाली बात यह है कि वीडियो का जो मुख्य विषय है, उसका जिक्र पहले वाक्य में जरूर होना चाहिए। टाईटल लिखने का फॉर्मूला भी यही है। Youtube SEO के हिसाब से Youtube Video Title Search Engine Friendly होना चाहिए।

अवश्य पढ़ें: Youtube के लिए Top 5 वीडियो एडिटिंग ऐप्स, अब फ़ोन से कीजिए वीडियो एडिटिंग

टाईटल लिखते समय कोशिश करें कि आपका जो Focus Keyword है, वह टाईटल में सबसे पहले स्थान पर आए। लेकिन अगर Focus Keyword को पहले स्थान पर रखने से वाक्य नहीं बन रहा है तो कम से कम पहले वाक्य में जरूर रखें। उसके बाद वीडियो के उप-विषय (मुख्य बिन्दुओं) को शामिल करें। जैसे कि अगर आपके वीडियो में इंटरनेट के बारे में जानकारी दी गई है कि इंटरनेट क्या है? और साथ में यह भी बताया गया है कि इंटरनेट काम कैसे करता है, तो आपका टाईटल कुछ इस तरह हो सकता है :- What is internet? How does the internet work?

Branding और Language

टाईटल में ब्रांडिंग और लैंग्वेज का भी उतना ही महत्व है, जितना कि Focus Keyword का। अगर आपका वीडियो हिन्दी में है और टाईटल अंग्रेजी में तो SEO के लिहाज से यह गलत है। क्योंकि इससे Viewers को कन्फ्यूजन होता है। हिन्दी वाला व्यूअर सोचेगा कि टाईटल अंग्रेजी में है तो वीडियो भी अंग्रेजी में ही होगा, इसलिए वह बिना वीडियो पर क्लिक किए आगे बढ़ जाएगा। वहीं अंग्रेजी वाला वीडियो पर क्लिक तो करेगा, लेकिन जैसे ही वह एक-दो लाइन सुनेगा, तुरन्त वीडियो छोड़कर चला जाएगा। इसलिए वीडियो के Title में लैंग्वेज का जिक्र जरूर करें। कैसे?

अवश्य पढ़ें: फोन से यूट्यूब चैनल कैसे बनाएं? और Youtube Career की शुरुआत कैसे करें?

अगर आपका Video हिन्दी में है और Title अंग्रेजी में तो टाईटल के अंत में Hindi या In Hindi जरूर लिखें। वहीं अगर वीडियो हिन्दी में है और टाईटल भी हिन्दी में है तो कुछ भी लिखने की जरूरत नहीं है, क्योंकि सर्च इंजन अपने आप भाषा को डिटेक्ट कर लेगा। लेकिन एक बात का विशेष रूप से ध्यान रखें कि आपके Keywords जिस भी भाषा में हैं, उन्हें उसी भाषा में लिखें। जैसे कि अगर आपका कीवर्ड Smartphone है तो आपको टाईटल में भी इसे Smartphone ही लिखना है, न कि ‘स्मार्टफोन’ यानि कि अनुवाद नहीं करना है।

अगर बात करें Branding की तो इसमें चैनल का नाम, चैनल के Owner का नाम या फिर चैनल के किसी फेमस कैरेक्टर (पात्र) का नाम हो सकता है। क्योंकि कई बार आपके द्वारा निभाया गया कोई कैरेक्टर लोगों को इतना ज्यादा पसंद आता है कि वे उसे बार-बार देखना पसंद करते हैं। ऐसे में उस कैरेक्टर की लोकप्रियता को भुनाना बहुत जरूरी होता है। इसके अलावा अगर आप किसी फेमस यूट्यूबर या सेलीब्रिटी के साथ Collaboration कर रहे हैं तो उसका नाम टाईटल में अवश्य लिखेंं। इससे न सिर्फ आपके वीडियो पर अच्छे-खासे Views भी आऐंगे बल्कि वीडियो और चैनल की रैंक भी बढ़ेगी।

अवश्य पढ़ें: अपने Youtube चैनल को Search Results में सबसे टॉप पर कैसे दिखाएं?

इसलिए टाईटल में Branding का जिक्र करना बेहद जरूरी है। क्योंकि यह एक ऐसी जबरदस्त SEO Technique है जो आपके वीडियो को कुछ ही घंटों में Youtube के Trending Page पर ला सकती है। इसलिए टाईटल में ब्रांडिंग का जिक्र करना बेहद जरूरी है। अगर ब्रांड इतना बड़ा है कि उसका नाम देखकर ही लोग वीडियो पर क्लिक कर दें तो उसे टाईटल में सबसे पहले स्थान पर जगह दें। उसके बाद Focus Keyword यूज करें। इसके विपरित, अगर ब्रांड छोटा है और उसके बारे में ज्यादा लोग नहीं जानते तो उसे टाईटल के अंत में लिखें।

खैर, अब तक आपने Video SEO : Title के बारे में काफी कुछ जाना और समझा। अगर अब भी आपके मन में Youtube Video के Title को लेकर कोई प्रश्न है तो आप नीचे कमेंट बॉक्स में पूछ सकते हैं। अगर यह आर्टिकल आपको पसंद आया तो इसे Like और Share जरूर करें। साथ ही अगर आप इस सीरीज के अगले भाग ‘Video SEO : Thumbnail’ के प्रकाशित होते ही नोटिफिकेशन पाना चाहते हैं तो ‘टेकसेवी डॉट कॉम’ को सब्सक्राइब करना न भूलें। और हाँ, हम सोशल मीडिया पर भी हैं, बस Techsevi के नाम से सर्च कीजिए और हमें Follow कर लीजिए।

अवश्य पढ़ें (खास आपके लिए) :-

मैं मेघराज मुंशी, एक वेब डिजायनर, ग्राफिक आर्टिस्ट और ब्लॉगर हूँ। वैसे पेशे से मैं एक शिक्षक हूँ और शिक्षा विभाग राजस्थान में कार्यरत हूँ। पढ़ने-पढ़ाने और लिखने के अलावा मुझे फिल्में देखना बहुत पसंद है। साहित्य, संगीत, सिनेमा, अंतरिक्ष, विज्ञान और तकनीकी मेरे पसंदीदा विषय हैं।

Comment