You are here : HomeExplanationSamsung Knox

Samsung Knox क्या है? इसकी मदद से एक ही फोन को दो फोन्स में कैसे बदलें?

Samsung-Knox-Kya-Hai

अगर आप Samsung का फोन इस्तेमाल कर रहे हैं तो आपने Samsung Knox (सैमसंग नॉक्स) का नाम जरूर सुना होगा। क्योंकि जब भी आप फोन को स्विच ऑन करते हैं तो स्क्रीन पर Secured by Knox लिखा आता है। लेकिन क्या आपको मालूम है कि यह Knox क्या है और इसका हमारे फोन में क्या उपयोग है? साथ ही यह हमारे क्यों और किसलिए दिया गया है? अगर नहीं मालूम तो इस आर्टिकल को पूरा पढ़िए और Knox के बारे में विस्तार से जानिए। क्योंकि यह बहुत ही काम की चीज है। इसकी मदद से आप एक फोन के दो फोन बना सकते हैं। जी हाँ, दो फोन! मगर कैसे? आइए जानते हैं।

What is Samsung Knox?

Samsung के अनुसार, “Knox, Software और Hardware सिक्योरिटी फीचर्स का वह सिस्टम है, जो एक ही डिवाइस को दो अलग-अलग डिवाइसेज के रूप में इस्तेमाल करने की सुविधा देता है।” यानि कि यह डिवाइस के सिस्टम को दो अलग-अलग Systems में बदल देता है, जिनमें से एक डिवाइस का ऑरिजनल सिस्टम होता है, जबकि दूसरा, उसकी कॉपी होता है। ठीक वैसे ही, जैसे Dual Apps नामक फीचर, एक App की दो Apps बना देता है। यानि कि Samsung Knox की मदद से आप एक ही फोन को दो अलग-अलग फोन्स की तरह इस्तेमाल कर सकते हैं।

अवश्य पढ़ें: फोन की स्क्रीन से निकलने वाली Blue Light क्या है और इसके क्या-क्या नुकसान हैं?

आपने यह कहावत तो जरूर सुनी होगी कि “एक म्यान में दो तलवारें नहीं रह सकती।” लेकिन Samsung Knox इस कहावत को गलत साबित करता है। क्योंकि जहाँ Knox होता है, वहाँ एक म्यान में दो तलवारें बड़े ही आराम से रहती है। मेरा मतलब है एक डिवाइस में दो सिस्टम्स बड़े ही आराम से काम करते हैं, बिल्कुल अलग-अलग और बिना एक-दूसरे को डिस्टर्ब किए। यानि कि एक ही फोन में दो फोन।

Samsung Knox का उपयोग

अगर आप Business और Personal Use के लिए अलग-अलग फोन इस्तेमाल करते हैं तो बधाई हो! Knox आपके एक फोन के पैसे बचाएगा। साथ ही यह आपको दो अलग-अलग फोन रखने के झंझट से भी मुक्ति दिलाएगा। क्योंकि यह एक ही फोन को दो में बदल देता है। इसलिए दूसरे फोन की आपको कभी जरूरत ही नहीं पड़ती। साथ ही अगर आप एक Youtuber, Blogger या नॉर्मल यूजर भी हैं तो भी Knox आपके लिए उतना ही जरूरी है। क्योंकि यह आपके पर्सनल और प्रोफेशनल डाटा को बिल्कुल अलग-अलग और सुरक्षित रखता है। यानि कि एक ही फोन से दो फोन्स का काम लेता है।

Samsung Knox कितना सुरक्षित है?

अब जिस Knox के भरोसे आप अपनी सबसे कीमती वस्तु यानि कि Data शेयर कर रहे हैं, उसकी Security को लेकर मन में सवाल उठना लाजिमी है। इसलिए मैं आपको पहले ही बता देता हूँ कि Samsung Knox पूरी तरह Secure (सुरक्षित) है। आपके संवेदनशील डाटा को सुरक्षित रखने के लिए यह Multi-layer security सिस्टम का इस्तेमाल करता है। साथ ही सरकार द्वारा प्रमाणित Encryption Module द्वारा आपके सम्पूर्ण डाटा को एन्क्रिप्टेड रखता है। अगर फोन खो जाता है या चोरी हो जाता है, तब भी आपका डाटा पूरी तरह सुरक्षित रहता है।

अवश्य पढ़ें: आखिर Brave Browser लोगों को इतना ज्यादा पसंद क्यों आ रहा है? टॉप-10 कारण

Samsung Knox आपकी Privacy का भी पूरा ध्यान रखता है। यह आपके Personal Data को प्रोफेशनल डाटा से बिल्कुल अलग और सुरक्षित रखता है। अगर आपका फोन कोई इस्तेमाल भी करे तब भी वह आपके पर्सनल डाटा को एक्सेस नहीं कर सकता। आपको बताना चाहूँगा कि Knox Samsung की एक प्रीमियम सर्विस है, जो बहुत-सी कंपनियों द्वारा इस्तेमाल की जाती है। अगर आंकड़ों की बात करें तो इस वक्त दुनियाभर में 15000 से भी ज्यादा व्यावसायिक प्रतिष्ठान Knox का इस्तेमाल कर रहे हैं। वहीं खुद सैमसंग के 1 बिलियन से भी ज्यादा Devices नॉक्स समर्थित हैंं।

How To Use Samsung Knox?

अब सवाल यह उठता है कि Samsung Knox को इस्तेमाल कैसे करें? तो यह बहुत ही आसान है। Knox के पुराने वर्जन के लिए My Knox नामक एक App इस्तेमाल की जाती थी और उसी की मदद से नॉक्स को Use किया जाता था। लेकिन दिसम्बर 2017 में My Knox App को बंद कर दिया गया। और उसकी जगह नई सुरक्षा विशेषताओं के साथ Secure Folder को लॉन्च किया गया। वर्तमान में सिक्योर फोल्डर की मदद से ही Knox को यूज किया जाता है। और यह सिर्फ उन्हीं Devices को सपोर्ट करता है, जो Android 7.0 (Nougat) और उससे उपर के वर्जन पर काम करते हैं।

इस्तेमाल के लिए जरूरी शर्तें

अगर आपका डिवाइस एंड्रॉयड 7.0 और उससे उपर के वर्जन पर काम कर रहा हैं तो आप Knox की बेमिसाल सर्विसेज का आनंद ले सकते हैं। बस आपके पास एक Samsung Account होना चाहिए। अगर आपके पास सैमसंग अकाउंट नहीं है तो पहले आप एक सैमसंग अकाउंट बना लीजिए। अगर आपको नहीं पता कि Samsung A/c. कैसे बनाया जाता है तो यह वीडियो देखें, इसमें सैमसंग अकाउंट बनाने की स्टेप-बाई-बाई जानकारी दी गई है। सैमसंग अकाउंट बनाने के बाद निम्न Steps को फॉलो करें।

अवश्य पढ़ें: फोन खोने या चोरी होने पर CEIR पोर्टल पर सूचना दें, सरकार ढूंढेगी आपका फोन

स्टेप-1. सबसे पहले अपने Samsung Device की Settings में जाइए और Biometrics and security पर टैप कीजिए। उसके बाद स्क्रॉल करके नीचे जाइए और Secure Folder के ऑप्शन पर टैप कीजिए। जैसा कि स्क्रीनशॉट नम्बर-1, 2 और 3 में दिखाया गया है।

How-To-Use-Samsung-Knox
How To Use Samsung Knox

स्टेप-2. सिक्योर फोल्डर पर टैप करते ही आपके सामने Secure Folder का Welcome Page ओपन हो जाएगा। यहाँ आपको Agree बटन पर टैप करना है। जैसा कि स्क्रीनशॉट नम्बर-4 में दिखाया गया है। Agree बटन पर टैप करते ही आपसे Samsung Account में Login करने के लिए कहा जाएगा।

Secure Folder Login

अगर आप Samsung Pass यूज करते हैं तो आपको Biometric का ऑप्शन भी मिल जाएगा। यानि कि आप Fingerprint की मदद से लॉगिन कर सकते हैं। जैसा कि नीचे स्क्रीनशॉट नम्बर-5 में दिखाया गया है।

Samsung-Konx-Login
Samsung Konx Login

अगर आप Samsung Pass यूज नहीं कर रहे तो आपके सामने Samsung Account का Login Page ओपन हो जाएगा। जहाँ आपको इमेल आईडी अथवा फोन नम्बर तो पहले से भरा हुआ मिलेगा। इसलिए आपको सिर्फ Password एंटर करना है और OK दबाना है। जैसा कि उपर स्क्रीनशॉट नम्बर-6 में दिखाया गया है। Samsung Knox Login

अवश्य पढ़ें: TrueCaller का उपयोग करना कितना घातक हो सकता है? और कैसे?

स्टेप-3. OK बटन दबाते ही Secure Folder Create होना शुरू हो जाएगा। जैसा कि नीचे स्क्रीनशॉट नम्बर-7 में दिखाया गया है। Secure Folder को Create होने में थोड़ा सा वक्त लगेगा। ज्यादा नहीं, बस 1-2 मिनट। अगर आपका इंटरनेट कनेक्शन Slow हुआ तो इससे थोड़ा ज्यादा वक्त भी लग सकता है। लेकिन एक बात का विशेष रूप से ध्यान रखें कि Google Play Store से किसी भी थर्ड पार्टी Secure Folder App को Download न करें। वरना आपका डाटा चोरी हो सकता है। साथ ही आपका Device भी Hack हो सकता है।

Secure-Folder-Lock-Settings
Secure Folder Lock Settings

स्टेप-4. Secure Folder Create होने के बाद आपसे Lock सेट करने के लिए कहा जाएगा। यहाँ आपको उपर स्क्रीनशॉट नम्बर-8 में दिखाए अनुसार Pattern, PIN, Password और Fingerprint Lock का ऑप्शन मिलेगा। आप इनमें से अपना मनपसंद Lock Type सेट कर सकते हैं।

No Face Unlock

आपको बताना चाहूँगा कि Secure Folder में Face Unlock का ऑप्शन नहीं है। क्योंकि कोई भी आपकी फोटो दिखाकर Secure Folder को Unlock कर सकता है। इसलिए सुरक्षा कारणों के चलते Face Unlock फीचर को Lock Types की सूची से बाहर रखा गया है।

अवश्य पढ़ें: Video SEO क्या है? Youtube वीडियोज का SEO क्यों जरूरी है व कैसे करें?

स्टेप-5. लॉक सेट करने के बाद आपका दूसरा फोन यानि कि Secure Folder यूज करने के लिए पूरी तरह तैयार हो जाएगा। बस आपको अपने काम की Apps और Files Add करनी हैं। इसके लिए आपको नीचे की तरफ Add Apps और Add Files का ऑप्शन मिल जाएगा। जैसा कि नीचे स्क्रीनशॉट नम्बर-10 में दिखाया गया है।

Adding-Apps-And-Files-To-Secure-Folder
Adding Apps & Files To Secure Folder

आपको बताना चाहूँगा कि आप अपने फोन में मौजूद Apps और Files को Secure Folder में एड कर सकते हैं। साथ ही नई Apps और Files को डाउनलोड भी कर सकते हैं। जैसा कि उपर स्क्रीनशॉट नम्बर-11 और 12 में दिखाया गया है। आपके फोन में मौजूद ऐप्स और सिक्योर फोल्डर में मौजूद ऐप्स बिल्कुल अलग-अलग रहेंंगी। यानि कि जिन Apps को आप अपने Phone से Secure Folder में Add करेंगे, वे बिल्कुल खाली होंंगी। उनमें कोई भी डाटा नहीं होगा। जैसे कि अगर आप WhatsApp ऐप को Secure Folder में कॉपी करेंगे तो सिर्फ App कॉपी होगी, उसमें मौजूद डाटा नहीं।

Customization

स्टेप-6. Apps और Files एड करने के बाद आपको Secure Folder की सैटिंग्स करनी है। इसके लिए आपको मेन्यू आइकॉन पर टैप करना है। जैसा कि नीचे स्क्रीनशॉट नम्बर-13 में दिखाया गया है। सिक्योर फोल्डर की मेन्यू में कुल 4 ऑप्शन्स दिए गए हैं। जैसा कि स्क्रीनशॉट नम्बर-14 में दिखाया गया है। इनमें से पहला ऑप्शन Lock का है। इस पर टैप करके आप कभी भी सिक्योर फोल्डर को लॉक कर सकते हैं। वहीं दूसरा ऑप्शन Customisation का है, जिसकी मदद से आप सिक्योर फोल्डर का Icon बदल सकते हैं। जैसा कि स्क्रीनशॉट नम्बर-15 में दिखाया गया है।

Customise-Secure-Folder
Customise Secure Folder

अगर आप Secure Folder का Default Icon नहीं रखना चाहते तो आप इसे जब चाहें, बदल सकते हैं। इसके लिए सिंपली Customisation के ऑप्शन पर टैप कीजिए और अपना मनपसंद Icon सलेक्ट कर लीजिए। इससे आपके फोन में मौजूद Secure Folder का आइकॉन Change हो जाएगा। इसी आइकॉन पर टैप करके आप सिक्योर फोल्डर को एक्सेस कर सकते हैं। बिल्कुल वैसे ही, जैसे कि आप किसी फोन को यूज करते हैं। यानि कि सिक्योर फोल्डर आपका दूसरा फोन बन जाएगा।

Secure Folder Settings

जिस तरह फोन की सैटिंग्स होती है, उसी तरह Secure Folder की भी अलग से सैटिंग्स होती है। क्योंकि यह एक अलग फोन की तरह ही काम करता है। इसलिए अपने मन मुताबिक Secure Folder की सैटिंग्स कर लें। इसके लिए सिक्योर फोल्डर की मैन मेन्यू को ओपन कीजिए और Settings के ऑप्शन पर टैप कर दीजिए। जैसा कि नीचे स्क्रीनशॉट नम्बर-16 में दिखाया गया है। अब आप Secure Folder के Settings Page पर पहुँच जाऐंगे। जैसा कि स्क्रीनशॉट नम्बर-17 में दिखाया गया है।

Secure-Folder-Settings
Secure Folder Settings

सैटिंग्स में आपको सबसे पहले Lock Type का ऑप्शन मिलेगा। जिसकी मदद से आप जब चाहें, अपने सिक्योर फोल्डर का लॉक (पैटर्न, पिन, पासवर्ड, फिंगरप्रिंट) बदल सकते हैं। जैसा कि उपर स्क्रीनशॉट नम्बर-18 में दिखाया गया है।

Secure Folder Lock

उसके बाद दूसरा और तीसरा ऑप्शन भी Lock से संबंधित ही है। जबकि चौथा ऑप्शन Notifications और Data से संबंधित है और यह काफी महत्वपूर्ण है। इसकी मदद से आप Secure Folder की नोटिफिकेशन सैटिंग्स के साथ-साथ, Content की विजिबिलिटी, Clipboard, Caller ID, Contacts और Calendar Data को मैनेज कर सकते हैं। जैसा कि नीचे स्क्रीनशॉट नम्बर-19, 20 और 21 में दिखाया गया है।

Secure-Folder-Notification-Settings
Secure Folder Notification Settings

उसके बाद जो Show Secure Folder का ऑप्शन है, यह भी काफी महत्वपूर्ण है। इसकी मदद से आप सिक्योर फोल्डर को Show और Hide कर सकते हैं। जैसा कि नीचे स्क्रीनशॉट नम्बर-22 में दिखाया गया है। अगर आप चाहते हैं कि आपके फोन में सिक्योर फोल्डर का आइकॉन दिखाई न दे तो आप इस ऑप्शन को बंद कर सकते हैं। और वापिस Show करने के लिए अपने फोन की Settings में जाऐं, Biometrics and security पर टैप करें, उसके बाद Secure Folder पर टैप करके उसे Unlock करें और Show Secure Folder के ऑप्शन को वापिस On कर दें।

How-To-Uninstall-Secure-Folder
How To Uninstall Secure Folder

उसके बाद सिक्योर फोल्डर की General Settings है, जिसमें Apps, Accounts, Backup and restore और कुछ अतिरिक्त सैटिंग्स है, जो बिल्कुल फोन की सैटिंग्स की तरह ही है। अगर आप Secure Folder को Uninstall करना चाहते हैं तो More Settings में जाकर Uninstall के ऑप्शन पर टैप करें। जैसा कि उपर स्क्रीनशॉट नम्बर-23 और 24 में दिखाया गया है। लेकिन उससे पहले अपना Data कहीं और सेव कर लें। क्योंंकि सिक्योर फोल्डर को Delete करते ही उसमें मौजूद सारा Data डिलीट हो जाएगा।

Why Use Knox?

अगर आप किसी Company में Job करते हैं और अपने ऑफिस के काम के लिए अपना फोन यूज करते हैं। तो जाहिर सी बात है आपके फोन में बहुत सी Files (जैसे कि ppt, pdf, docs, exel, google sheets आदि) रहती होंगीं। अब अगर आप ऑफिस और पर्सनल यूज के लिए एक ही फोन इस्तेमाल करते हैं तो जाहिर सी बात है काफी परेशानी होती है। क्योंकि पर्सनल फाईल्स और ऑफिस की फाईल्स मिक्स हो जाती हैं। इससे एक तो काम की फाईल्स को ढूँढने में काफी मुश्किल होती है। और दूसरा, आपकी Privacy हमेशा दाँव पर लगी रहती है। कैसे? चलिए बताता हूँ।

अवश्य पढ़ें: ऑनलाइन शॉपिंग Fraud कैसे किया जाता है व इससे कैसे बचें? साइबर सिक्योरिटी

Samsung Knox For Office

मान लीजिए आपके फोन में Office से संबंधित कोई फाईल है, जो आपका बॉस देखना चाहता है। लेकिन जैसे ही वह आपसे आपका फोन मांगता है, आप धर्मसंकट में पड़ जाते हैं कि फोन दें या नहीं? क्योंकि आपको डर है कि कहीं वह आपकी पर्सनल फाईल्स न देख ले, जो कि उसी फाईल के उपर-नीचे हैं। अब अगर आपने फोन दे दिया तो मरे, और नहीं दिया तो भी मरे। क्योंकि अगर आप फोन देने में आनाकानी करेंगे तो आपका बॉस समझेगा कि जरूर आपके फोन में कुछ गलत चीज है, जो आप उसे दिखाना नहीं चाहते। ऐसे मुश्किल वक्त में काम आता है Knox जो आपकी Privacy का पूरा ख़याल रखता है।

Samsung Knox For Youtube/Blog

इसी तरह अगर आप एक Youtuber अथवा Blogger हैं और अपने फोन/टैबलेट से Videos Edit करते हैं तो भी Knox आपके लिए बहुत जरूरी है। क्योंकि Youtube Channel अथवा Blog के लिए आपको अपने फोन/टैबलेट में काफी सारी Files रखनी पड़ती है। जैसे कि Photos, Videos, GIFs, Audio Files, Graphics, Sound Effects आदि। अब ये काम की फाईल्स आपकी पर्सनल फाईल्स में मिक्स ना हों और आपको काम करने मेंं कोई असुविधा ना हो, इसके लिए Knox का होना बहुत जरूरी है।

अवश्य पढ़ें: अपने एंड्रॉयड स्मार्टफोन की कड़ी सुरक्षा के लिए अपनाऐं ये 10 जरूरी टिप्स

क फोन से दो का काम कैसे लें?

बहुत ही सिंपल है। अपने ऑफिस/बिजनेस/यूट्यब चैनल/ब्लॉग के काम के लिए साधारण मोड और Personal Use के लिए Knox Mode इस्तेमाल करें। इस तरह आपके काम से संबंधित Files अलग रहेंगी और पर्सनल फाईल्स अलग। साथ ही आपको काम करने में भी आसानी रहेगी। क्योंकि काम के वक्त आपकी कोई भी पर्सनल फाईल (जैसे कि फोटो, वीडियो, कॉल रिकॉर्डिंग आदि) बीच में नहीं आएगी। इसी तरह जब आप पर्सनल काम कर रहे होंगे, तो आपके काम से संबंधित फाईल्स आपको डिस्टर्ब नहीं करेंगी। आपको ऐसा लगेगा मानो आप दो अलग-अलग फोन इस्तेमाल कर रहे हैं।

Samsung Knox : Privacy & Security

अगर आपके फोन की इंटरनल मैमोरी 64 GB है, तो Secure Folder की इंटरनल मैमोरी भी 64 GB ही होगी। यानि कि फोन और सिक्योर फोल्डर की मैमोरी बिल्कुल अलग-अलग होगी। इसीलिए फोन और सिक्योर फोल्डर का डाटा बिल्कुल Separate, Private और Secure रहेगा। उदाहरण के लिए अगर आपके Phone में 500 Contacts, 200 मैसेजेज और 150 वीडियोज हैं, तो Secure Folder में इनमें से कुछ भी दिखाई नहीं देगा। जब तक कि आप खुद सिक्योर फोल्डर में एड नहीं करेंगे। Samsung Knox Security के मामले में कोई कोताही नहीं बरतता।

अवश्य पढ़ें: क्या आपके फोन का IMEI Number वैलिड है? पता कीजिए इन 3 तरीकों से

अगर बात करें सिक्योरिटी की तो जिस तरह फोन को यूज करने से पहले उसे Unlock करना पड़ता है। उसी तरह Secure Folder को भी हर बार Unlock करना पड़ता है। और जैसे ही आप सिक्योर फोल्डर से बाहर निकलते हैं, वह Automatically Locked हो जाता है। यानि कि अगर आपका फोन Unlocked अवस्था में भी किसी के हाथ लग जाए, तब भी आपका पर्सनल डाटा पूरी तरह सुरक्षित रहेगा। क्योंकि बिना Secure Folder को Unlock किए आपके Personal Data तक पहुँचना नामुमकिन है।

सारांश

Samsung Knox वाकई कमाल की सर्विस है। अगर आप Samsung का कोई भी Device जैसे कि Phone, Tablet या Wearable इस्तेमाल करते हैंं तो Knox को जरूर इस्तेमाल कीजिए। उम्मीद करता हूँ Samsung Knox के बारे में आपको काफी उपयोगी जानकारी मिली होगी। अगर यह आर्टिकल आपको पसंद आया तो इसे Like और Share जरूर कीजिए। साथ ही ‘टेकसेवी डॉट कॉम’ को Subscribe भी कर लीजिए। ताकि जब भी कोई नया आर्टिकल प्रकाशित हो तो आपको उसका नोटिफिकेशन मिल जाए।

अवश्य पढ़ें (ख़ास आपके लिए) :-

Comment