You are here : HomeExplanationWhy Quora Pay Only For Questions

Quora Pay : क्योरा पर सिर्फ सवाल पूछने के ही पैसे क्यों मिलते हैं?

quora-partner-program

क्या आपने कभी सोचा है कि क्योरा (कंपनी) हमें सवाल पूछने के पैसे क्यों देती है? Why Does Quora Pay For Asking Questions? और इसमें Quora का क्या फायदा है? पैसे सिर्फ सवाल पूछने वालों को ही क्यों मिलते हैं, जवाब देने वालों को क्यों नहीं? अगर आप एक Quora User हैं तो कभी न कभी ये सवाल आपके मन में भी जरूर आए होंगे! लेकिन क्या आपको इन सभी सवालों का जवाब मिला? अगर नहीं मिला तो यह आर्टिकल खास आप ही के लिए है। इसलिए इसे पूरा पढ़िएगा।

Why Quora Pay For Questions?

पहला सवाल कि आखिर Quora Users को सवाल पूछने के पैसे क्यों देती है? और इसमें Quora का क्या फायदा है? तो इसका जवाब यह है कि आज के जमाने में कोई भी किसी को मुफ्त में कुछ नहीं देता। ऐसे में क्योरा क्यों देगी? असल में क्योरा भी आपको मुफ्त में पैसा नहीं दे रही है। अब यह मत कहना कि क्या बकवास कर रहे हो? क्योरा तो 100% फ्री है। Quora Company हमसे कोई पैसा नहीं लेती। तो चलिए, मान ली आपकी बात। पर मुझे आप यह बताइए कि गूगल, फेसबुक, व्हाट्सएप, ट्विटर, इंस्टाग्राम जैसी कंपनियाँ हर साल अरबों-खरबों का मुनाफा कैसे कमा लेती हैं? क्योंकि ये सब तो 100% फ्री हैं?

जवाब है – अपने ‘विशाल यूजर डाटाबेस’ की वजह से। यानि कि अपने अनगिनत उपयोगकर्ताओं की वजह से। ये कंपनियाँ अपने इन्हीं उपयोगकर्ताओं को Ads दिखाकर उनसे कमाई करती हैं। जिस कंपनी के पास जितना बड़ा User Database होगा, उसके पास उतने ही ज्यादा Advertiser आऐंगे। ताकि उनका विज्ञापन ज्यादा से ज्यादा लोगों तक पहुंच पाए। ध्यान रहे, जितनी भी Free Service देने वाली कंपनियां हैं। जैसे कि फेसबुक, ट्विटर, यूट्यूब आदि, ये सब अपनी Earning का ज्यादातर हिस्सा Advertisement से ही कमाती हैं।

Quora की कमाई कहाँ से होती है?

मुफ्त सर्विस देने वाली ये कंपनियाँ अपने यूजर्स को विज्ञापन दिखाती हैं और बदले में विज्ञापनदाताओं से पैसा कमाती हैं। तथ्य की बात यह है कि जिस कंपनी के पास जितने ज्यादा Users होंगे, उसे उतने ही ज्यादा विज्ञापन मिलेंगे। ऐसे में स्वाभाविक है, हर कंपनी यही चाहेगी कि उसके पास दूसरी कंपनियों से ज्यादा यूजर्स हों। ताकि हर Advertiser (विज्ञापनदाता) उसी के पास आए। इसलिए ये कंपनियाँ यूजर्स को लालच देती हैं ताकि ज्यादा से ज्यादा नये यूजर्स आऐं और उनका User Database बढ़े।

इससे इन कंपनियों को एक फायदा और होता है। जो यूजर एक बार कंपनी से जुड़ जाता है, वह हमेशा कंपनी से जुड़ा रहता है। यानि कि लालच के कारण कंपनी को छोड़कर नहीं जाता। इससे कंपनी के Active Users की संख्या में बढ़ोतरी होती है।साथ ही कंपनी की साख भी मजबूत होती है। आपको बताना चाहूँगा कि Total Users की बजाय Active Users ज्यादा महत्वपूर्ण होते हैं। और यूजर्स को एक्टिव रखने के लिए कंपनियों को कई पापड़ बेलने पड़ते हैं। पैसों का लालच भी उनमें से एक है।

यह भी पढ़ें: Quora क्या है? क्या यह ऑनलाइन कमाई के लिए सबसे आसान और भरोसेमंद विकल्प है?

बस इसलिए Quora अपने यूजर्स को सवाल पूछने के पैसे दे रही है। क्योरा अगर एक विज्ञापनदाता से 1 रूपया कमाती है तो उसका थोड़ा-सा हिस्सा (10–20 पैसे) अपने यूजर्स में बांट देती है। इससे यूजर्स को प्रोत्साहन मिलता है और वे ज्यादा उत्साह व रूचि के साथ Quora पर सवाल-जवाब करते हैं। साथ ही बहुत-से नये यूजर्स जुड़ते हैं। इससे कंपनी को और ज्यादा फायदा होता है।

इसमें Quora का क्या फायदा है?

सच पूछो तो इसमें Quora का फायदा ही फायदा है। बल्कि यूजर्स से भी ज्यादा फायदा है। कैसे? चलिए, इसे एक उदाहरण के माध्यम से समझते हैं। मान लीजिए आज क्योरा के पास 1000 यूजर हैं जिनकी बदौलत कंपनी 1000 रूपये रोज कमाती है। और ये 1000 लोग सारे के सारे एक्टिव भी नहीं रहते। कई बार तो कुछ यूजर्स हफ्तों-महीनों तक Quora पर नहीं आते।

लेकिन एक दिन कंपनी अपना Partner Program लॉन्च कर देती है और हफ्ते भर में ही कंपनी के यूजर्स की संख्या बढ़कर 10,000 हो जाती है। यानि कि अब कंपनी 10,000 यूजर्स से 10,000 रूपये रोज कमा रही है? अब मान लीजिए कि कंपनी इस कमाई का 40% हिस्सा अपने पार्टनर्स (पार्टनर प्रोग्राम से जुड़े यूजर्स) में बांट देती है।

फायदे का गणित

लेकिन फिर भी कंपनी की आमदनी अब काफी ज्यादा बढ़ गई है। क्योंकि 40% हिस्सा Users को देने के बाद भी कंपनी पहले से छह गुना ज्यादा मुनाफा (6,000 रूपये प्रतिमाह) कमा रही है। साथ ही कंपनी का यूजर डेटाबेस भी लगातार बढ़ रहा है। और सबसे अच्छी बात, अब यूजर्स पहले की बजाय ज्यादा Active रहते हैं और रोज Quora पर आकर घंटो बिताते हैं। इससे कंपनी के Active Users की संख्या भी बढ़ गई हैं।

यह भी पढ़ें: Quora Partner Program क्या है? इसे Join करने के लिए क्या-क्या करना होगा?

खैर, महीने भर बाद ही कंपनी के पास 1,00,000 यूजर्स हो जाते हैं और वह 40% हिस्सा यूजर्स को देकर भी 60,000 रूपये कमा लेती है। फिर एक लाख से दस लाख… फिर पचास लाख… एक करोड़… पचास करोड़… एक अरब…. यानि कि ज्यों-ज्यों User Database बढ़ता जाएगा, त्यों-त्यों कंपनी की Income भी बढ़ती जाएगी। साथ ही कंपनी की साख भी बढ़ती जाएगी। त़ो उम्मीद है, अब आपको अच्छे-से समझ में आ गया होगा कि हमें ‘सवाल पूछने’ के पैसे देने से Quora को क्या फायदा है? चलिए, अब आते हैं तीसरे सवाल पर…

Why Quora Pay Only For Questions?

दरअसल, Quora Partner Program का मकसद है ज्यादा से ज्यादा नये Users को जोड़ना। अब आप सब जानते हैंं कि आजकल लिखने के मामले में युवा पीढ़ी कितनी कंजूस होती जा रही है। Good Morning को GM लिखने वाले लोगों से अगर यह कहा जाएगा कि क्योरा पर पैसे कमाने के लिए आपको दो-दो हजार शब्दों के जवाब लिखने पड़ेंगे, तो शायद 10% लोग भी नहीं आऐंगे। क्योंकि जो लोग पूरे साल में भी दो हजार शब्द नहीं लिखते। वे इतने लम्बे-लम्बे जवाब लिखने के लिए Quora पर क्यों आऐंगे?

दूसरी बात, ऐसे बहुत कम लोग हैं। जो भाषा, व्याकरण और वर्तनी संबंधी अशुद्धियों के बिना अपना मौलिक जवाब लिख सकें। लेकिन एक-दो लाईन का सवाल तो कोई भी पूछ सकता है, जब उसके भी पैसे मिल रहे हों। इसलिए क्योरा ने ‘जवाब’ की बजाय ‘सवाल’ को अपना मुख्य हथियार बनाया है। तीसरी बात, आज के जमाने में लोग शॉर्टकट के पीछे भागते हैं। सफलता तो चाहिए पर मेहनत से नहीं, शॉर्टकट से। सीधा, सरल और आसान रास्ता सबको पसंद आता है। और जैसा कि आप सबको पता है क्योरा पर सबसे आसान काम है – सवाल पूछना। इसलिए क्योरा ने सवाल पूछने वालों को पैसे देने का निर्णय लिया है।

Quora Questions

इसका नतीजा तो आप देख ही रहे हैं? जब से सवाल पूछने वालों को Quora Pay करने लगा है, ऊट-पटांग सवालों की बाढ़ आ गई है। कुछ सज्जन तो एक ही सवाल को छ्ह-छह टुकड़ों में पूछ रहे हैं… अलग-अलग सवाल के रूप में। जैसे कि यह पूछने कि बजाय कि फलां Phone के Specifications क्या हैं? यह पूछ रहे हैं…

  1. फलां फोन में रैम कितनी है?
  2. क्या इसमें नॉच वाला डिस्प्ले है?
  3. क्या इसमें फास्ट चार्जिंग फीचर है?
  4. इसमें कौनसा प्रोसेसर लगा है?
  5. इसमें कितने एमएएच की बैटरी है?
  6. क्या इसमें ट्रिपल कैमरा है?

खैर छोड़िए, अंतिम सवाल पर आते हैं…

Quora Answers के पैसे क्यों नहीं देता ?

यह सवाल आपको भी परेशान कर रहा होगा कि आखिर Answer देने वालों ने कौनसा पाप किया है? उनको Quora Pay क्यों नहीं कर रहा? जबकि सारी मेहनत तो जवाब लिखने वाले ही कर रहे हैं। घंटों खप जाते हैं एक Answer लिखने में। न जाने कितनी मेहनत और रिसर्च करनी पडती है, कितनी ही Websites खंगालनी पड़ती है। तब जाकर एक अच्छा जवाब लिख पाते हैं। इतनी मेहनत का यह सिला? यह तो सरासर नाइंसाफी है। हम चाहते हैं कि जवाब देने वालों को भी Quora Pay करे।

कुछ इसी तरह के विचार आपके मन में भी आते होंगें, जब आप घंटों मेहनत करके कोई जवाब लिखते हैंं और उसकी Earning प्रश्नकर्त्ता को चली जाती है। है ना? लेकिन क्या करें? जो है सो है! अगर आप लिखने के शौकीन हैं। और इस काम से आपको खुशी मिलती है तो आप लिखते रहिए। भले ही Quora Pay करे या ना करे। Payment का क्या है? आज नहीं तो कल सही… कुछ समय बाद सही… कभी न कभी तो Quora Pay करेगा ही! जवाब देने वालों को भी।

यह भी पढ़ें: अपने Youtube चैनल को Search Results में सबसे टॉप पर कैसे दिखाएं? Advanced सेटिंग्स

Quora Pay For Answers?

खैर, सुनने में आ रहा है कि यह सिर्फ Quora Partner Program का ट्रायल है। या कह लीजिए कि बीटा चरण (टेस्टिंग फेज या ऐसा ही कुछ) है। अगर यह Successful रहा तो जल्द ही जवाब देने वालों को भी इसमें शामिल कर लिया जाएगा। और सही न्याय भी तभी होगा जब जवाब देने वालों को भी Quora Pay करेगा। वरना जवाबदाता इससे हतोत्साहित होंंगे। और एक-एक जवाब के लिए घंटों बर्बाद नहीं करेंगे। बल्कि हाँ-ना या एक-दो पंक्ति में जवाब देकर चलते बनेंगे, कुछ लिखने के शौकीनों को छोड़कर। क्योंकि वे तो वैसे भी लिखते रहेंगे, भले ही उन्हें Quora Pay करे या ना करे।

लेकिन अगर जवाबदाताओं ने जवाब देना कम कर दिया तो Quora पर सिर्फ सवाल ही सवाल नजर आऐंगे। इसलिए क्योरा को ज्ञान का कोष बनाए रखने के लिए जितने जरूरी सवाल हैं, उतने ही जरूरी जवाब भी हैं। उम्मीद है यह आर्टिकल आपको काफी पसंद आया होगा। अगर पसंद आया तो इसे Like और Share कीजिए। और ऐसे ही और ज्ञानवर्धक आर्टिकल्स के लिए ‘टेकसेवी डॉट कॉम’ को Subscribe कर लीजिए। ताकि नया आर्टिकल प्रकाशित होते ही आपको नोटिफ़िकेशन मिल जाए।

यह भी पढे (खास आपके लिए) :-

Comment