Truecaller का उपयोग करना कितना घातक हो सकता है? और कैसे?

truecaller

आपने Truecaller (ट्रूकॉलर) का नाम तो जरूर सुना होगा! अगर नहीं सुना है तो आज सुन लीजिए। यह दरअसल एक Caller ID और Spam Blocking सर्विस है, जिसका मुख्य काम है Caller ID बताना। यानि कि किसी फोन नंबर के मालिक का नाम बताना। अब आप लोग सोच रहे होंगे कि Truecaller को कैसे पता कि कौनसा नम्बर किसका है? तो इसके पीछे दरअसल आप और हम जैसे लाखों यूजर्स का कीमती Data है और यही हमारे लिए सबसे बड़ा खतरा है। आज के इस आर्टिकल में हम यही जानने की कोशिश करेंगे कि ट्रूकॉलर का उपयोग करना कितना घातक हो सकता है? और क्या इसे इस्तेमाल करना चाहिए? तो आइए, विस्तार से जानते हैं।

TrueCaller क्या है?

ट्रूकॉलर एक Caller Identification और Spam Blocking सर्विस है, जिसे स्वीडिश कंपनी True Software Scandinavia AB द्वारा विकसित किया गया है। यह Android, iOS, BlackBerry, Symbian और Windows (Phone) ऑपरेटिंग सिस्टम के लिए उपलब्ध है। Truecaller का बेसिक काम है Caller Identification. यानि कि Caller की पहचान करना। जब आपके पास किसी Unknown नम्बर से कॉल आता है, तो ट्रूकॉलर आपको बता देता है कि वह नम्बर किसका है। साथ ही अगर आप किसी नम्बर को Spam के रूप में चिन्हित कर देते हैं तो उस नम्बर से आने वाले Calls को ब्लॉक कर देता है।

यह काम कैसे करता है?

ट्रूकॉलर का काम करने का तरीका बहुत ही सिंपल है। जब आप अपने फोन में Truecaller App को Install करते हैं तो यह आपसे Contacts को एक्सेस करने की Permission माँगती है। और जैसे ही आप इसे परमिशन देते हैं, यह आपके सारे के सारे Contacts को अपने सर्वर पर अपलोड कर लेती है और पूरी दुनिया को बांट देती है। अब आप कहेंगे कि अगर ऐसा है तो परमिशन को Allow ही मत करो। पर समस्या यह है कि जब तक आप परमिशन को Allow नहीं करेंगे, तब तक यह App काम ही नहीं करेगी। यानि कि अगर आपको ट्रूकॉलर ऐप यूज करनी है, तो इसे Contacts की परमिशन देनी ही पड़ेगी। यह अनिवार्य है।

यह भी पढ़ें: एक आधार कार्ड से अधिकतम कितने सिम कार्ड ख़रीद सकते हैं? आधार कार्ड हिस्ट्री कैसे जानें?

अगर आपने एक बार अपने फोन में ट्रूकॉलर App को Install कर लिया तो आपके सारे Contacts ट्रूकॉलर के सर्वर पर अपलोड हो जाऐंगे। फिर चाहे आप ऐप को यूज करें या ना करें, अपने फोन में रखें या ना रखें, कोई फर्क नहीं पड़ता। क्योंकि ऐप को Un-Install करने के बाद भी आपके Contacts ट्रूकॉलर के सर्वर पर मौजूद रहेंगे। आज तक जितने भी लोगों ने ट्रूकॉलर ऐप को अपने फोन में इंस्टॉल किया है, उन सबके Contacts ट्रूकॉलर के सर्वर पर मौजूद हैं। और इन्हीं Contacts की मदद से ट्रूकॉलर आपको Unknown Numbers की जानकारी देता है। Truecaller Unlist बहुत दूर की कौड़ी है।

जब आप किसी Unknown नम्बर को ट्रूकॉलर पर Search करते हैं तो उसकी जानकारी इन्हीं Contacts की बदौलत दी जाती है। अब आप अंदाजा लगा सकते हैं कि ट्रूकॉलर के पास कितने सारे Contacts की Datail होगी। अगर आप अकेले Android प्लेटफार्म की ही बात करें तो इस वक्त ट्रूकॉलर ऐप के 500 मिलियन से ज्यादा Downloads हैं। 500 मिलियन मतलब 50 करोड़ (500,000,000). अब अगर एक नॉर्मल स्मार्टफोन यूजर अपने फोन में कम से कम 200-250 Contacts भी रखता है तो आप समझ सकते हैं कि 50 करोड़ फोन्स में कितने Contacts होंगे?

चलिए, 200-250 न सही, 100 ही मान लेते हैं। अगर एक फोन में 100 Contacts भी हुए, तो 50 करोड़ फोन्स में कितने Contacts होंंगे? 500,000,000×100 = 50,000,000,000 (50 अरब). और 50 अरब Contacts तो अकेले Android प्लेटफॉर्म के हैं। सोचिए, अगर iOS, BlackBerry, Symbian और Windows को भी मिला लें तो कितने Contacts होंगे? कम से कम 60-70 अरब Contacts तो आराम से हो जाऐंगे। कृपया ध्यान दें, यह सिर्फ एक अनुमानित आँकड़ा है।

यह भी पढ़ें: Password को Hack कैसे किया जाता है व Safety के लिए क्या उपाय करें?

दरअसल Truecaller के पास अरबों लोगों की Contact Details मौजूद है। और Contact Details से मेरा मतलब सिर्फ नाम और मोबाइल नम्बर नहीं है, बल्कि घर का पता, लोकेशन, ईमेल आईडी और फोन के सॉफ्टवेयर और हार्डवेयर की पूरी जानकारी इसमें शामिल है। अगर आप ट्रूकॉलर ऐप यूज कर रहे हैं तो आपसे बेहतर कौन जान सकता है? क्योंकि App को Install करते वक्त आपने ट्रूकॉलर की Privacy Policy जो पढ़ी है! उसमें ये सारी चीजें विस्तार से लिखी हैंं।

क्या यह सही जानकारी देता है?

Does truecaller provide correct information? अगर आप सोचते हैं कि ट्रूकॉलर द्वारा दी गई जानकारी 100% सही होती है, तो आपसे बड़ा बेवकूफ और कोई नहीं है। क्योंकि ट्रूकॉलर के पास जो भी जानकारी मौजूद है, वह सब यूजर्स के फोन से ली गई है। इसीलिए कई बार Truecaller Search के दौरान मम्मी, पापा, भैया, अंकल या ताऊजी जैसे नाम देखने को मिलते हैं। क्योंकि ट्रूकॉलर ने जिस फोन से उस कॉन्टेक्ट को उठाया है, उस फोन में वह इसी नाम से Saved था। अगर आप Truecaller App इस्तेमाल कर रहे हैं और आपके फोन में कोई नम्बर Papa के नाम से सेव है तो ट्रूकॉलर उस नम्बर को Papa के नाम से ही दिखाएगा, जब तक कि किसी दूसरे के फोन से उस नम्बर के Owner का सही नाम न मिल जाए। कैसे?

मान लीजिए आपके पिताजी का नाम Ravi Verma है और उनका मोबाइल नम्बर 9876543210 है, जिसे आपने अपने फोन में Papa के नाम से सेव कर रखा है। अब अगर कोई इस नम्बर को ट्रूकॉलर पर Search करेगा तो उसे यह नम्बर Papa के नाम से ही दिखाया जाएगा। लेकिन मान लीजिए कि आपके पापा के दोस्त भी ट्रूकॉलर ऐप इस्तेमाल करते हैं और उन्होंने यही नम्बर Ravi, Ravi Bhai या Ravi Verma के नाम से सेव कर रखा है, तो ट्रूकॉलर इस नम्बर को Ravi Verma के नाम से दिखाएगा। क्योंकि ट्रूकॉलर का अल्गोरिदम Name और Surname की पहचान कर सकता है। और पहले से Saved नम्बर को अपडेट कर सकता है।

यह भी पढ़ें: नया अथवा सैकण्ड हैंड फोन खरीदते समय किन-किन बातों का ध्यान रखना चाहिए?

अगर कोई नम्बर कई सारे ट्रूकॉलर यूजर्स के फोन में Saved है तो आपको उस नम्बर के Owner की सही जानकारी मिल सकती है। लेकिन अगर वही नम्बर सिर्फ एक व्यक्ति के फोन में Saved है, तो उसके Owner की सही जानकारी मिलना बहुत मुश्किल है। क्योंकि ऐसी स्थिति में आपको सिर्फ वही जानकारी दिखाई जाएगी, जो उस व्यक्ति के फोन में सेव है। अगर उसने Deepak Goyal नाम के किसी व्यक्ति का नम्बर Bhaiya के नाम से Save कर रखा है, तो ट्रूकॉलर भी आपको यही नाम दिखाएगा। ऐसे में ट्रूकॉलर द्वारा दी जाने वाली जानकारी हमेशा सही नहीं होती है।

Is TrueCaller Safe?

ट्रूकॉलर आपके सभी Contacts को Public (सार्वजनिक) कर देता है, जिससे हर कोई आपके Contacts को देख सकता है। अब आप कहेंगे कि इसमें कौनसा खतरा है? तो चलिए, आपको खतरे का अहसास करवाते हैं। मान लीजिए कि आपकी Contact List में आपके परिवार के लोगों (विशेषकर महिलाओं) के नम्बर भी Save हैं, जो कि Truecaller ने सार्वजनिक कर रखे हैं। अब कल को अगर आपकी बहन या बेटी का नम्बर किसी मनचले आशिक के हाथ लग गया तो सोचिए क्या होगा! शायद मुझे बताने की जरूरत नहीं है। लेकिन हाँ, एक बात जरूर बताना चाहूँगा। कुछ निठल्ले लोग, जिनके पास कोई काम-धंधा नहीं होता है, वे दिनभर ट्रूकॉलर पर लड़कियों के Number ही ढूँढते रहते हैं। वे अलग-अलग Numbers को सर्च करते रहते हैं, और जो नम्बर किसी लड़की के नाम से मिल जाता है, उस पर फोन कर-करके तंग करते हैं।

यह भी पढ़ें: स्मार्टफोन से होने वाले इन 10 नुकसानों के बारे में आपको जरूर जानना चाहिए

Privacy के लिए बड़ा खतरा

ट्रूकॉलर आपकी प्राइवेसी का खुल्लम-खुला हनन करता है, क्योंकि आपने इसकी परमिशन दे रखी है। साथ ही आप True Caller के Terms & Conditions यानि कि नियम व शर्तो से बँधे हुए हैं। लेकिन क्या आपको मालूम है कि ट्रूकॉलर आपके फोन से कौन-कौनसी जानकारी एक्सेस करता है? अगर आप सोच रहे हैं कि यह सिर्फ Contacts को ही एक्सेस करता है तो आप बहुत बड़ी गलतफहमी में जी रहे हैं। क्योंकि असल में आपको पता ही नहीं है कि ट्रूकॉलर आपके फोन से कितनी तरह की जानकारियाँ एक्सेस कर रहा है। अगर आप पूरी लिस्ट देखेंगे तो आपके होश उड़ जाऐंगे। जरा यह स्क्रीनशॉट देखिए…

personal-information-collecting-by-truecaller
Personal Information Collecting By Truecaller

क्या ऐसी कोई जानकारी बची है, जो Truecaller ने न माँगी हो? शायद नहीं। क्योंकि ट्रूकॉलर को Data की कीमत पता है। और उसे यह भी पता है कि 21वीं सदी की सबसे अमूल्य वस्तु Data ही है। इसीलिए उसने, वह Data भी इकट्ठा कर लिया, जिसकी उसे कोई जरूरत नहीं थी। पता है क्यों? क्योंकि Data को बेचकर अंधाधुंध पैसे कमाये जा सकते हैं। ट्रूकॉलर की Privacy Policy में साफ-साफ लिखा है कि वह अपने यूजर्स के Data को Third Party कंपनियों और दूसरे देशों के साथ शेयर कर सकती है। मतलब आपका Data किसी और कंपनी या देश को बेचा जा सकता है। और मजे की बात पता है क्या है? आप इसका विरोध नहीं कर सकते। क्यों? क्योंकि आप ट्रूकॉलर के Terms & Conditions से पूरी तरह सहमत हैं। ये देखिए…

truecaller-privacy-policy
Truecaller Data Sharing Policy

ट्रूकॉलर का विकल्प क्या है?

अगर देखा जाए, तो Truecaller का विकल्प कुछ नहीं है। मेरा मतलब है कि ट्रूकॉलर का विकल्प खुद ट्रूकॉलर ही है। लेकिन निराश होने की जरूरत नहीं है। एक तरीका है, जिसकी मदद से आप बिना किसी Risk के ट्रूकॉलर की सेवाओं का लाभ उठा सकते हैं। लेकिन उससे पहले मैं आप लोगों से यह जानना चाहूँगा कि आपके पास महीने भर में Unknown Numbers से कितने Calls आते होंगे? मेरे पास तो मुश्किल से दो या तीन Calls आते हैं, वो भी कंपनी के। अब अगर इन दो-तीन नम्बर्स की जानकारी के लिए मैं Truecaller Mobile App Use करूँ और अपना सारा का सारा Data ट्रूकॉलर को दे दूँ तो मुझसे बड़ा बेवकूफ इस दुनिया में कोई नहीं होगा।

यह भी पढ़ें: क्या रातभर चार्जिंग में लगाए रखने से फोन में विस्फोट हो सकता है? मिथ vs सच

इसलिए मैं Truecaller Web का इस्तेमाल करता हूँ। जी हाँ, सही सुना आपने। मैं अपने फोन में ट्रूकॉलर की मोबाइल ऐप नहीं रखता, बल्कि Browser की मदद से ही इस ऐप के सभी फीचर्स को यूज करता हूँ। कैसे? बहुत ही सिंपल है। अपने फोन के किसी भी ब्राउजर में ट्रूकॉलर की Website को Open कीजिए और एक फर्जी Email ID से एक Truecaller Account बना लीजिए। ध्यान रहे, आपको अपना मोबाइल नम्बर या पर्सनल Email ID नहीं देनी है।

use-truecaller-in-browser
Using Truecaller In Browser

अगर आपके पास कोई फर्जी ईमेल आईडी नहीं है तो बना लीजिए, सिर्फ दो मिनट लगेंगे। फिर उसी इमेल आईडी से ट्रूकॉलर पर अकाउंट बनाइए और ईमेल आईडी को Verify कर दीजिए। बस, आपका ट्रूकॉलर अकाउंट Use करने के लिए तैयार है। अब जब भी आपको किसी Unknown Number के Owner की जानकारी लेनी हो, आप अपने ब्राउज़र में Truecaller की वेबसाइट खोलकर उस नम्बर को सर्च कर लीजिएगा। आपका काम हो जाएगा। तो इस तरह आप बिना App के भी ट्रूकॉलर की सेवाओं का लाभ उठा सकते हैं।

उम्मीद करता हूँ यह आर्टिकल आपको काफी पसंद आया होगा। अगर पसंद आया तो इसे Like और Share कीजिए। और ऐसे ही और ज्ञानवर्धक आर्टिकल्स के लिए ‘टेकसेवी डॉट कॉम’ को Subscribe कर लीजिए, ताकि जब भी नया आर्टिकल प्रकाशित हो, आपको उसका Notification मिल जाए।

अवश्य पढ़ें (खास आपके लिए) :-

मैं मेघराज मुंशी, एक वेब डिजायनर, ग्राफिक आर्टिस्ट और ब्लॉगर हूँ। वैसे पेशे से मैं एक शिक्षक हूँ और शिक्षा विभाग राजस्थान में कार्यरत हूँ। पढ़ने-पढ़ाने और लिखने के अलावा मुझे फिल्में देखना बहुत पसंद है। साहित्य, संगीत, सिनेमा, अंतरिक्ष, विज्ञान और तकनीकी मेरे पसंदीदा विषय हैं।

Comment