You are here : HomeTop-5Youtube

Youtube Channel शुरू करते वक़्त इन 5 बातों का जरूर ध्यान रखें

youtube-tips

आज Youtube सिर्फ मनोरंजन का साधन नहीं रहा है बल्कि रोजगार का साधन भी बन गया है। आज लाखों लोग Youtube से अच्छा-खासा पैसा कमा रहे हैं। ऐसे में यूट्यूब को अब कैरियर के रूप में देखा जाने लगा है। क्योंकि यहाँ पैसा और शोहरत दोनों है। जब आप बड़े Youtubers की कमाई और प्रसिद्धि के बारे में सुनते हैं तो आपका भी जी ललचाता है। और आप भी अपना Youtube Channel शुरू कर देते हैं। लेकिन जब महीनों की मेहनत के बाद भी सफलता नहीं मिलती तो आप निराश होकर यूट्यूब छोड़ देते हैं। पता है क्यों? क्योंकि चैनल शुरू करते वक़्त आपने कुछ जरूरी बातों का ध्यान नहीं रखा। कौनसी हैं वे जरूरी बातें? आइए, जानते हैं।

Youtube Channel

किसी भी काम को शुरू करने से पहले उसकी योजना बनाना बहुत जरूरी है। और अगर बात Career की हो तो यह और भी जरूरी हो जाता है। इसीलिए उत्साह में आकर बिना सोचे-समझे यूट्यूब चैनल शुरू न करें। Youtube Channel शुरू करने से पहले अच्छे-से तैयारी करें। ठीक वैसे ही, जैसे किसी Exam की तैयारी करते हैं। क्योंकि आप सब जानते हैं कि Exam के वक़्त तैयारी जितनी अच्छी होगी, Result भी उतना ही अच्छा होगा। इसलिए चैनल शुरू करने से पहले उसकी पूरी रूपरेखा तैयार कर लें। Channel कि Category से लेकर Theme, Logo, चैनल का नाम, Content का प्रकार सब-कुछ तय कर लें। कैसे? आइये जानते हैं…

1. सही Category का चुनाव

Youtube Channel बनाना बहुत आसान है, कोई भी बना सकता है। सिर्फ दो मिनट का काम है। लेकिन चैनल के लिए सही Category और Theme का चुनाव करना बहुत जरूरी है। ठीक वैसे ही, जैसे नई दुकान खोलने से पहले व्यक्ति यह तय करता है कि दुकान किस चीज की होगी? यानि कि कपड़े की होगी या बर्तनों की; हार्डवेयर की होगी या इलेक्ट्रॉनिक्स की? किसमें ज्यादा फायदा होगा? और यह तय करने के लिए दुकान की लोकेशन, आसपास के मार्केट और कंपीटीशन जैसी चीजों को ध्यान में रखना पड़ेगा।

अगर कोई तीसरे फ्लोर पर पैट्रोल पंप खोलकर बैठेगा तो सीधी-सी बात है वह नहीं चलेगा। इसी तरह अगर कोई कपड़ा मार्केट में कपड़े की दुकान खोलेगा, जहाँ पहले से सैंकड़ों जमी-जमाई दुकानें है तो उसकी दुकान भी नहीं चलेगी। क्योंकि वहाँ पहले ही बहुत Competition है। एक यूट्यूब चैनल के लिए कैटेगरी या थीम Select करते वक्त भी इसी तरह की प्लानिंग की जरूरत पड़ती है। सबसे पहले तो आपको यह देखना चाहिए कि किस Category में सबसे कम Competition है। क्योंकि Competition जितना कम होगा, चैनल उतना ही जल्दी Grow करेगा।

यह भी पढ़ें: Youtube चैनल को सफल बनाने के 7 मूलमंत्र, जो आपको कोई नहीं बताएगा

वहींं अगर आप ऐसी Category का चुनाव करेंगे! जिसमें पहले ही हद से ज्यादा Competition है तो आपका Channel भीड़ में खोकर रह जाएगा। इसलिए कम कंपीटीशन वाली कैटेगरी चुनें। जैसे कि मनोविज्ञान (Psychology, चित्रकारी (Painting), मूर्तिकला (Sculpture), फैशन डिजायनिंग (Fashion Designing), बागवानी (Gardening), यात्रा (Travel), जागरूकता (Social Awareness), व्लॉगिंग (Vlogging), जैविक खेती (Organic Farming) आदि। ऐसी ही 5-7 Channel Categories चुन लीजिए।

आपका Knowladge महत्वपूर्ण है

अब उस Category को Select कीजिए, जो आपको सबसे ज्यादा पसंद है। ध्यान रहे, जिस कैटेगरी को आप Select कर रहे हैं, उसके बारे में आपको अच्छा-खासा Knowladge होना चाहिए। जैसे कि अगर आप ‘सामाजिक जागरूकता’ विषय का चुनाव कर रहे हैं तो आपको सामाजिक मुद्दों में दिलचस्पी होनी चाहिए, साथ ही गहरी समझ भी। आपके पास इतनी काबिलियत होनी चाहिए कि इस विषय से संबंधित किसी भी Topic पर आप वीडियो बना सकें। दूसरों से प्रभावित (Influenced) होकर उनकी नकल कभी मत कीजिए। क्योंकि इससे आप अपनी मौलिकता खो देंगे। इसलिए हमेशा अपने तरीके से काम कीजिए, क्या पता कोई आपसे प्रभावित हो जाए।

यह भी पढ़ें: Video SEO क्या है? अपने Youtube वीडियोज का SEO कैसे करें?

खैर, कैटेगरी Select करने के बाद आपको अपने Channel के लिए एक अच्छा-सा नाम सोचना होगा। ऐसा नाम, जो आपके चैनल की थीम (Theme) और विषयवस्तु (Content) से संबंधित हो। साथ ही Short और Unique हो और याद रखने में आसान हो। आप चाहें तो इस काम के लिए Youtube की मदद भी ले सकते हैं।

इसके लिए आपको अपनी पसंद के 8-10 नामों की एक लिस्ट बनानी है और फिर उन्हें एक-एक करके Youtube पर सर्च करना है। और जिस नाम से आपको एक भी Channel ना मिले, वही नाम रखिए। ताकि जब भी कोई Youtube पर आपके Channel का नाम Search करे, तो आपका चैनल Search Results में सबसे उपर दिखाई दे। इससे आपके Channel पर ज्यादा Traffic आएगा और चैनल की Growth बढ़ेगी।

2. Youtube Channel हेतु जरूरी संसाधन

चूँकि आप नया Channel शुरू करने जा रहे हैं तो जाहिर-सी बात है शुरूआत में आपको कुछ जरूरी संसाधनों की जरूरत पड़ेगी। जैसे कि लाईट्स (Lights), कैमरा (Camera), ट्राईपोड (Tripod), माईक (Mic), लैपटॉप (Laptop), एंडिटिंग सॉफ्टवेयर (Editing Software) आदि। और इन संसाधनों को खरीदने के लिए आपको अच्छे-खासे Budget की जरूरत पड़ेगी। लेकिन अगर आपका बजट बहुत ही कम है! तो सिर्फ वही चीजें खरीदिए, जिनकी आपको सबसे ज्यादा जरूरत है। जैसे कि कैमरा, माईक और एडिटिंग सॉफ्टवेयर।

यह भी पढ़ें: Video SEO : Description में कौन-कौनसी 10 चीजें लिखना जरूरी हैं?

ये तीन चीजें तो आपको चाहिए ही चाहिए। क्योंकि इनके बिना आप वीडियोज नहीं बना सकते। इसलिए सबसे पहले आप इन तीन चीजों का बंदोबस्त कीजिए। अब यह जरूरी नहीं है कि Camera सिर्फ DSLR ही खरीदें, आप फोन से भी अच्छी क्वालिटी के Videos Record कर सकते हैं। बाद में जब आपको Channel से अच्छी-खासी Income होने लगे तब आप DSLR Camera खरीद सकते हैं।

इसी तरह अगर Mic की बात करें तो शुरुआत में आप अपने फोन के साथ आए हुए Earphones को बतौर Mic इस्तेमाल कर सकते हैं। रही बात Video Editing Software की तो इसके लिए आप Free Softwares का इस्तेमाल कर सकते हैं, जैसे कि Filmora. अगर आपके पास लैपटॉप नहीं है तो आप फोन से भी प्रोफेशनल तरीके से Videos Edit कर सकते हैं। ये हैं 5 Best Free Video Editing Apps For Smartphone

3. Research और Script Writing

संसाधन जुटाने के बाद आप Videos बनाने के लिए पूरी तरह तैयार हैं। लेकिन वीडियो में दिखायेंगे क्या? इसके लिए आपको सबसे पहले एक अच्छा-सा Topic सलेक्ट करना होगा। उसके बाद उस Topic के बारे में अच्छी तरह Research करके ज्यादा से ज्यादा जानकारी जुटानी होगी। जुटाई गई जानकारी के आधार पर एक अच्छी-सी Script लिखनी होगी। और फिर Script के अनुसार Video शूट करना होगा। तब जाकर आप एक अच्छा वीडियो बना पाऐंगे।

यह भी पढ़ें: Video SEO : Thumbnail क्या है? एक अच्छा Thumbnail कैसे बनाऐं?

शुरुआत में आप Trending Topics का चुनाव करेंगे तो ज्यादा बेहतर होगा। क्योंकि इससे आपका चैनल जल्दी Grow करेगा। कहते हैं कि एक अच्छे Video के लिए एक दमदार Script का होना बहुत जरूरी है। इसलिए पर्याप्त Research करके अच्छी Script लिखें और उसके अनुसार ही वीडियो बनाऐं।

अगर आप बिना Research किए ही, सिर्फ सुनी-सुनाई बातों के आधार पर Video बनाऐंगे तो आपके Viewers आपको Comment Box में भद्दी-भद्दी गालियाँ देंगे। और आपको अनपढ़, जाहिल और गंवार कहकर आपका मजाक उड़ाऐंगे। इसलिए Video बनाने से पहले Proper Research करना बहुत जरूरी है। साथ ही Topic से जुड़ा कोई भी महत्वपूर्ण बिन्दु Miss ना हो, इसके लिए Proper Script लिखना जरूरी है। क्योंकि बिना Script के वीडियो बनाने से गलतियाँ होने की संभावना रहती है।

Youtube Video Editing

वीडियो शूट करने के बाद नम्बर आता है Editing का। Editing करते वक्त इस बात का विशेष रूप से ध्यान रखें कि वीडियो में कोई भी अनावश्यक Scene ना हो। सिर्फ Topic से जुड़े जरूरी Scenes को ही वीडियो में रखें, बाकी सब काट दें। साथ ही Topic से जुड़े मुख्य Keywords को Text के रूप में दर्शाना न भूलें। जी हाँ, यह बहुत ही जरूरी है।

यह भी पढ़ें: Video SEO : Tags क्या हैं? इनकी मदद से अंधाधुंध Traffic कैसे लें?

एडिटिंग कंपलीट होने बाद (या आप चाहें तो पहले भी) एक अच्छा-सा थम्बनेल (Thumbnail) बनाऐं, जिसमें वीडियो के टॉपिक और उससे संबंधित Photo और Keywords को अवश्य शामिल करें। उसके बाद नम्बर आएगा Uploading का। यहाँ आपको सबसे ज्यादा सावधानी बरतनी होगी। दरअसल आपको वीडियो का Proper SEO करना होगा। क्योंकि इसके बिना आपके Video पर पर्याप्त Views नहीं आऐंगे।

4. SEO बेहद जरूरी है

SEO यानि Search Engine Optimization. अर्थात् वीडियो को Search Engine के अनुसार Optimize करना। अगर सरल भाषा में कहूँ तो जब भी कोई गूगल या किसी अन्य सर्च इंजन पर आपके वीडियो से संबंधित Keywords को सर्च करे तो उसे Search Results में आपका वीडियो अवश्य दिखाई दे। इसके लिए आपको अपने Video के Title, Thumbnail, Description, Tags और Video के अंदर कुछ खास Keywords का इस्तेमाल करना पड़ता है।

जिस टॉपिक पर आपने वीडियो बनाया है, उस टॉपिक को वीडियो के शुरुआत में बोलना बहुत जरूरी है। साथ ही वीडियो के टाईटल, थम्बनेल, डिस्क्रिप्शन और टैग्स में भी टॉपिक का जिक्र करना जरूरी है। आपने अक्सर देखा होगा कि जब आप गूगल पर कोई Keyword सर्च करते हैं तो सबसे उपर उस Keyword से संबंधित Youtube Videos को दिखाया जाता है। ये वीडियोज SEO के कारण ही दिखाई देते हैं।

अगर आप भी अपने Videos को Top Search Results में देखना चाहते हैं तो हर Video का Proper SEO कीजिए। Keyword Research कीजिए और वीडियो के Title, Description और Tags में उन Keywords को जगह दीजिए, जिनकी Ranking सबसे ज्यादा है। तभी आपके Videos Top Search Results में दिखाई देंगे और उन पर अच्छे-खासे Views आऐंगे।

5. Quantity नहीं, Quality पर ध्यान दें

बहुत-से लोग चैनल शुरू करते ही दनादन Videos Upload करना शुरू कर देते हैं। कई-कई तो दिन में दो-दो, तीन-तीन Videos अपलोड कर देते हैं। इससे Videos की Quality पर काफी बुरा असर पड़ता है। क्योंकि ज्यादा Videos अपलोड करने के चक्कर में Research, Script और SEO के लिए समय ही नहीं बचता। नतीजा यह होता है कि वीडियोज पर पर्याप्त Views नहीं आते। इसलिए Videos की Quality और Content Optimization पर ध्यान दें।

अवश्य पढ़ें: Video SEO : Content Optimization क्या है और यह कैसे किया जाता है?

हाँ, अगर आप कोई News Channel चला रहे हैं और आपके पास पूरी टीम है तब तो यह फिर भी ठीक है, लेकिन एक Individual Creator के लिए यह सही नहीं है। क्योंकि Individual Creator को Topic के चयन से लेकर Research, Script Writing, Shooting, Editing और Video SEO तक हर काम खुद ही करना पड़ता है। इसलिए दिन में दो-दो, तीन-तीन वीडियोज बनाना संभव नहीं है। इसके बावजूद अगर कोई Individual Creator दिन में दो-दो, तीन-तीन Videos बनाता है तो आप समझ सकते हैं कि उसके Videos की Quality कैसी होगी।

Youtube Tips

अगर आप बिना Research किए दिन के दो Videos Upload करते हैं और Research करके हफ्ते में सिर्फ एक ही Video Upload कर पाते हैं, तो वह एक Video ज्यादा अच्छा है। क्योंकि उसकी Quality काफी अच्छी होगी। Research के कारण उसमें दिखाए गई सूचनाऐं सही व क्रमबद्ध होंंगी। इससे वीडियो की विश्वसनीयता (Reliability) बढ़ेगी। और SEO के कारण वीडियो पर अच्छे Views भी मिलेंगे और Viewers का भरपूर प्यार भी। इसलिए हमेशा अपने वीडियोज की Quality पर ध्यान दें, ना कि Quantity पर। क्योंकि High Quality Content ही आपको और आपके Channel को आगे जाएगा।

उम्मीद करता हूँ खुद का Youtube Channel शुरू करने जा रहे यूजर्स को यह आर्टिकल काफी पसंद आएगा। अगर पसंद आऐ तो इसे Like और Share अवश्य कीजिएगा। और ऐसे ही और आर्टिकल्स के लिए ‘टेकसेवी डॉट कॉम’ को सब्सक्राइब करना न भूलें, यह बिल्कुल मुफ्त है।

इन्हे भी पढ़ें (खास आपके लिए) :-

“Youtube Channel शुरू करते वक़्त इन 5 बातों का जरूर ध्यान रखें” पर 4 विचार

    1. माफ कीजिएगा रामचन्द्र जी,
      दरअसल मैं आपका मतलब नहीं समझा! आप पूछ रहे हैं या बता रहे हैं? अगर पूछ रहे हैं तो जवाब है – हाँ! एक कैटेगरी के दो ही नहीं, कई सारे चैनल चल सकते हैं। और चल भी रहे हैं। उदाहरण के लिए आप Roasting चैनल्स को ही ले लीजिए। कितने सारे हैं, कोई गिनती नहीं है। इसी तरह Tech, Vlogging, Vines और Coocking के भी ढ़ेर सारे चैनल चल रहे हैं। दरअसल, कैटेगरी Same होने से कोई फर्क नहीं पड़ता। बस, Content अलग होना चाहिए।

Comment