You are here : HomeTutorialsPhone Root

Phone Root करने का सबसे आसान तरीका, One Click Root

Phone-Root-Kaise-Kare

अगर आप अपना Phone Root करने जा रहे हैंं तो जरा रूकिए! पहले यह तो जान लीजिए कि Root होता क्या है? और किसी Phone को कब, क्यों और किसलिए रूट करना चाहिए? अगर आप सोच रहे हैं कि Root के सिर्फ फायदे ही फायदे हैं तो आप गलत हैं। क्योंकि रूट के जितने फायदे हैं, उससे कहीं ज्यादा नुकसान हैं? इसीलिए रूट करने से पहले पूरी जानकारी प्राप्त करें। वरना आपका फोन Dead भी हो सकता है? अगर आपको नहीं पता कि फोन को रूट कैसे किया जाता है? और रूट करने के क्या-क्या फायदे और क्या-क्या नुकसान हैं? तो पहले यह आर्टिकल पढ़ें।

Phone Root

बहुत-से लोग Rooted Phone (रूट किया हुआ फोन) इस्तेमाल करते हैं। और इसके पीछे उनकी अपनी वजह होती है। जैसे कि कुछ लोग Phone की Performance बढ़ाने के लिए रूट करते हैं। तो कुछ लोग कंपनी द्वारा लगाए गए Restrictions को Bypass करने के लिए Phone Root करते हैं। वहीं कुछ लोग सिर्फ Experience के लिए भी अपना Phone Root करते हैं। लेकिन वजह जो भी हो, फोन को रूट करना गलत माना जाता है। इसीलिए कोई भी कंपनी अपने Phone को रूट करने की Permission नहीं देती। क्योंकि इससे Phone की गारंटी, वारंटी और सिक्योरिटी सब खत्म हो जाती है।

Root Kya Hai?

जब आप कोई नया फोन खरीदते हैं, तो वह बहुत-से Restrictions के साथ आता है। यानि कि उसमें कुछ ऐसे Advanced फीचर्स होते हैं, जिन्हें आप चाहकर भी यूज नहीं कर सकते। क्योंकि आपके पास उनका Access नहीं होता। ऐसे में न तो आप फोन को ठीक से Customize कर सकते हैं। और न ही उसके सिस्टम में कोई बदलाव कर सकते हैं। ऐसे में तमाम Advanced Features को यूज करने के लिए आपको अपना Phone Root करना पड़ता है। यानि कि कंपनी द्वारा लगाए गए Restrictions को तोड़कर फोन का Root Access हासिल करना पड़ता है। और इसी को Phone Root करना कहते हैंं।

अवश्य पढ़ें: Samsung Knox क्या है? इसकी मदद से एक फोन को दो फोन्स में कैसे बदलेंं?

Root करने के बाद आप फोन को As an administrator यूज कर सकते हैंं। यानि कि Phone के System पर पूरी तरह आपका Control हो जाता है। और आप Normal User से Super User बन जाते हैं। इसका मतलब यह है कि आप अपने फोन में जो चाहे, कर सकते हैं। यहाँ तक कि फोन के Software को Upgrade और Downgrade कर सकते हैं। अपना मनपसंद Kernel यूज कर सकते हैं। और Bloatware को हटा सकते हैं। लेकिन सवाल यह है कि Phone को Root किया कैसे जाता है? क्या इसका कोई आसान तरीका है? आइए, जानते हैं।

Phone Root कैसे करें?

वैसे तो Phone को Root करने के कई तरीके हैं। लेकिन मैं आपको सबसे सरल और सबसे आसान तरीका बताऊँगा, जिसमें आपको लैपटॉप की जरूरत भी नहीं पड़ेगी। साथ ही आप एक Click में अपने फोन को Root (One Click Root) कर पाऐंगे। बस इसके लिए आपको एक App की जरूरत पड़ेगी, जिसका नाम Kingroot है। यह App आपको Google Play Store पर नहीं मिलेगी। क्योंंकि गूगल इस तरह की ऐप्स को Support नहीं करता। इसीलिए आपको इसकी Apk File डाउनलोड करके Manually Install करना पड़ेगा।

अवश्य पढ़ें: Google Content Rating क्या है? यह क्यों दी जाती है? जानिए हर रेटिंग का अर्थ

और इसके लिए आपको Kingroot की ऑफिशियल वेबसाइट पर जाना है। और वहाँ से Kingroot App का Latest Version डाउनलोड करके अपने फोन में इंस्टॉल करना है। अगर आप यह Cheak करना चाहते हैं कि आपका फोन Root किया हुआ है या नहीं तो आप Root Cheaker App की मदद ले सकते हैं। यह ऐप आपको Google Play Store पर आसानी से मिल जाएगी। और इसका काम सिर्फ यह बताना है कि कोई डिवाइस रूट किया हुआ है या नहीं? तो इस ऐप को भी इंस्टॉल कर लीजिए। ताकि रूट करने के बाद आप चैक कर सकें कि आपका Phone Root हुआ या नहीं।

Important Settings

खैर, अब अपने फोन की Settings में जाइए और Developer Options पर टैप कीजिए। यहाँ आपको USB Debugging का ऑप्शन मिलेगा, इसे On कर दीजिए। उसके बाद थोड़ा नीचे स्क्रॉल कीजिए। और OEM Unlocking के ऑप्शन को भी On कर दीजिए। उसके बाद थोड़ा और नीचे जाइए। और Select mock location app पर टैप करके Kingroot ऐप को सलेक्ट कर दीजिए। बस! अब आप Developer Options से बाहर आ सकते हैं।

अवश्य पढ़ें: Credit और Debit Card की डिटेल्स कैसे चुराई जाती है व इससे कैसे बचें?

लेकिन एक सैटिंग अभी भी बाकी है। इसके लिए आपको फोन की Settings में जाना है और Accessibility पर टैप करना है। यहाँ आपको Kingroot का ऑप्शन मिलेगा, उसे On कीजिए और Settings से बाहर आ जाइए। लो जी! अब आपकी Settings कंपलीट है। और आप अपने फोन को Root करने के लिए पूरी तरह तैयार हैं।

लेकिन Rooting शुरू करने से पहले चैक कर लीजिए कि कहीं फोन की Battery डिस्चार्ज तो नहीं है। अगर बैटरी डिस्चार्ज है तो पहले उसे चार्ज कर लें। इसके अलावा अगर फोन WiFi से कनेक्टेड है, तो उसे Disconnect करके WiFi को बन्द कर दें। और Running Apps को Colse कर दें। अगर आपने ये सारे काम कर लिए हैं तो आप Rooting Process शुरू कर सकते हैं। कैसे? आइए जानते हैं।

Start Phone Rooting

सबसे पहले Kingroot App को ओपन कीजिए। और TRY IT के बटन पर टैप कर दीजिए। जैसे ही आप टैप करेंगे, Kingroot App आपके फोन को Identify करेगी। और उसके बाद पूरे सिस्टम को Scan करेगी। स्कैनिंग कंपलीट होते ही आपको Top Left Corner में मौजूद Menu Icon पर टैप करना है। यहाँ आपको Not Root लिखा हुआ दिखाई देगा। और उसके नीचे एक TRY ROOT का बटन मिलेगा। आपको इसी बटन पर टैप करना है। बस! अब आपका Phone Root होना शुरू हो जाएगा।

अवश्य पढ़ें: Android 10 (Android Q) आधिकारिक रूप से लॉन्च। ये हैं टॉप-10 फीचर्स

Phone को पूरी तरह Root होने में तकरीबन 4 से 5 मिनट का समय लगेगा। इसीलिए थोड़ा इंतजार करें। और फोन के साथ कोई छेड़छाड़ न करें। जब प्रोसेसिंग 100% हो जाएगी तो आपका फोन Sucessfully Root हो जाएगा। और Top Left Corner में Root Granted लिखा हुआ आ जाएगा। तो इस तरह आप बिना किसी लैपटॉप के अपना Android Phone Root कर सकते हैं। लेकिन सवाल यह है कि Phone Root करने का फायदा क्या है? तो आइए, फायदे और नुकसान दोनों के बारे में बात कर लेते हैं।

Phone Root करने के फायदे

अगर एक स्मार्ट यूजर के हिसाब से देखें तो Phone Root करने के बहुत-से फायदे हैंं। क्योंकि Rooted Phone में आपको इतने सारे Advanced Features मिलते हैं कि आप कुछ भी कर सकते हैंं। मतलब अपने फोन को जैसे चाहें, Modify कर सकते हैं। उसमें जो चाहें, बदलाव कर सकते हैं। लेकिन क्या? आखिर एक रूट किए हुए फोन से हम क्या-क्या कर सकते हैं? आइए, जानते हैं :-

1. Flash Custom ROM

अगर आपका Phone पुराना हो चुका है। और कंपनी की तरफ से कोई Update नहीं मिल रहा है। तो आप अपने फोन को रूट करके उसमें नया Software डाल सकते हैं। साथ ही जब चाहें, फोन के Software को Upgrade और Downgrade कर सकते हैं। जैसे कि अगर आपका फोन Android Nougat पर चल रहा है। तो आप उसे Android Oreo से अपग्रेड कर सकते हैं। और नये फीचर्स का आनन्द ले सकते हैं।

2. Remove Bloatware

जब आप नया Phone खरीदते हैं, तो उसमें कुछ Apps पहले से Install की हुई आती है, जिन्हें Bloatware कहा जाता है। इन Apps को आप चाहकर भी डिलीट नहीं कर सकते। लेकिन अगर आपका Phone Root किया हुआ होगा। तो आप इन Apps को बड़ी ही आसानी से डिलीट कर सकते हैं। मतलब, फोन का Storage खाली करके उसे किसी और काम में ले सकते हैं।

3. Full Customization

एक रूट किए हुए फोन को आप पूरी तरह Customize कर सकते हैं। मतलब अपने फोन में ढ़ेर सारे बदलाव कर सकते हैं। जैसे कि Fonts, Wallpapers, Themes, Navigation, Status Bar, Interface, Control Pannel, Buttons, Gestures, App Launcher, Boot Animation और ऐसे ही सैंकड़ों Features को अपने हिसाब से Customize कर सकते हैं।

4. Use Root Only Apps

कुछ ऐप्स ऐसी होती हैं, जिन्हें Root Access की जरूरत पड़ती है। यानि कि इस तरह की Apps सिर्फ Root किए हुए Phone में ही काम करती हैंं। क्योंकि ये डायरेक्ट System के साथ Interact करती हैं। ऐसे में अगर आपका फोन Root किया हुआ होगा तो आप उन तमाम Apps को यूज कर पाऐंगे। जो सिर्फ Rooted Phone में ही काम करती हैं।

5. Increase Performance

अगर आप अपने फोन की Performance से खुश नहीं हैं। तो आप जब चाहें, फोन को रूट करके उसकी Performance को बढ़ा सकते हैं। इसके लिए आप अपने फोन का Kernel Change कर सकते हैं। और उसकी अपनी पसंद का नया Kernel इस्तेमाल कर सकते हैं।

Phone Root करने के नुकसान

अगर आप Rooting के फायदे सुनकर खुश हो गए हैं। और अपना Phone Root करने का मन बना चुके हैं तो जरा रूकिए! पहले Rooting के नुकसान तो जान लीजिए! क्या पता आपका मन बदल जाए? और आप Phone Root करने का इरादा छोड़ दें। यह भी हो सकता है कि आपको Phone Root करने की जरूरत ही न पड़े। तो आइए, जानते हैं Phone Root करने नुकसान

1. No Warranty

जब आप अपना Phone Root कर लेते हैं तो उसकी Warranty खत्म हो जाती है। उसके बाद अगर आपका Phone खराब हो जाता है। और आप उसे Service Centre लेकर जाते हैं, तो वहाँ आपको कोई भी फ्री सर्विस नहीं मिलती। यानि कि आपको पैसे देकर अपना फोन ठीक करवाना पड़ता है। भले ही आपका फोन वारंटी पीरियड में हो।

2. Security Risk

जब आप कोई नया फोन खरीदते हैं तो वह पूरी तरह Secure होता है। जिससे कि कोई भी Virus या Unauthorized User फोन के System में घुसकर छेड़छाड़ नहीं कर सकता। लेकिन जब आप फोन को रूट कर लेते हैं, तो उसकी Security खत्म हो जाती है। और उसके बाद आपके फोन में Virus और Malware जब चाहें, आ सकते हैं। साथ ही फोन के Hack होने और Data चोरी होने का खतरा भी कई गुना बढ़ जाता है।

3. No Official Updates

अमूमन हर कंपनी अपने Phone को 2 साल तक रेगुलर Updates देती है। लेकिन अगर आप Phone को Root कर लेते हैं, तो कंपनी की तरफ से Official Updates मिलना बंद हो जाता है। इससे फोन की Security पर काफी बुरा असर पड़ता है। हालांकि आप खुद अपने Phone को Update कर सकते हैं। लेकिन कंपनी की तरफ से आपको कोई अपडेट नहीं मिलता।

4. Some Apps Don’t Work

कुछ ऐप्स ऐसी होती हैं, जो Rooted Phone में बिल्कुल भी काम नहीं करती। क्योंकि ये Apps Security को लेकर काफी संवेदनशील होती हैं। और जहाँ भी इन्हें Security Risk नजर आता है, वहाँ ये काम करना बंद कर देती हैं। जैसे कि Banking Apps और कुछ Cryptocurrency Apps. इन ऐप्स को आप Root किए हुए फोन में इस्तेमाल नहीं कर सकते। और कुछ ऐप्स को तो Phone Unroot करने के बाद भी यूज नहीं कर सकते। इसलिए Phone Root करने से पहले इस बात का विशेष रूप से ध्यान रखें।

5. Phone Dead

अगर आप अपने Phone को Root करने जा रहे हैं तो याद रखें! Rooting के दौरान आपका Phone Dead भी हो सकता है। जी हाँ! पूरी तरह बर्बाद। क्योंकि इस बात की कोई गारंटी नहीं है कि आपका Phone Successfully Root हो जाएगा। अगर Rooting के दौरान जरा-सी भी गड़बड़ हो गई, तो समझो आपका फोन गया काम से।

Phone Root करें या नहींं

अब सवाल यह है कि Phone Root करना चाहिए या नहीं? तो मैं बस इतना कहना चाहूँँगा कि अगर आपको वाकई Phone Root करने की जरूरत है, तो ही रूट कीजिए। वरना मत कीजिए। क्योंकि बेवजह फोन की Security खत्म करना कहीं से भी समझदारी वाली बात नहीं है।

अवश्य पढ़ें: Reselling से कमाइए घर बैठे 50,000 रूपये महीना। Top-5 Reselling Apps

फिर भी अगर आप Experience करना चाहते हैं। तो किसी ऐसे फोन का चुनाव कीजिए, जिसकी वारंटी Already खत्म हो चुकी है। और आपके पास यूज करने के लिए दूसरा फोन मौजूद है। ताकि Rooting के दौरान अगर फोन खराब भी हो जाए, तो आपको एकदम से नया फोन खरीदने की जरूरत न पड़े।

Phone Root किसे करना चाहिए?

अगर आप एक नॉर्मल यूजर हैं। और अपने फोन को सिर्फ सोशल मीडिया, Internet Browsing और मनोरंजन के लिए इस्तेमाल करते हैं! तो आपको Phone Root करने की कोई जरूरत नहीं है। लेकिन वहीं अगर आप एक Advanced User हैं! Technology के अच्छे जानकार हैं! अपने फोन से High Level का काम लेना जानते हैं! और Softwares को Modify करने में एक्सपर्ट हैं! तो आप अपना Phone Root कर सकते हैं। लेकिन फिर भी मैं यही कहूँगा कि बिना किसी जरूरत के अपना Phone कभी Root न करें।

उम्मीद है इस आर्टिकल के जरिए आपको Phone Root Kya Hai है? और Android Phone Ko Kaise Root Kare? इसके बारे में पूरी जानकारी मिल गई होगी। अगर अभी भी आपके मन में Android Root से जुड़ा कोई सवाल है! तो आप नीचे कमेंट बॉक्स में पूछ सकते हैं। अगर यह आर्टिकल आपको पसंद आया तो इसे Like और Share कीजिए। और ऐसे ही और ज्ञानवर्धक आर्टिकल्स के लिए ‘टेकसेवी डॉट कॉम’ को Subscribe कर लीजिए। ताकि जब भी हमारा नया आर्टिकल प्रकाशित हो, आपको उसकी सूचना मिल जाए।

अवश्य पढ़ें (खास आपके लिए) :-

Comment