You are here : HomeExplanationNFC

NFC क्या है? इसे कैसे Use करें? हमारे फोन में NFC का क्या उपयोग है?

nfc-kya-hai

अगर आप एक स्मार्टफोन यूजर हैं तो आपने NFC का नाम जरूर सुना होगा। और अपने फोन में इस फीचर को देखा भी होगा। लेकिन क्या आपको मालूम है कि यह NFC है क्या और इसे कैसे यूज किया जाता है? What is NFC and how to use it? और हमारे फोन में इसका क्या उपयोग है? नहीं मालूम? चलिए कोई बात नहीं! अगर आप जानना चाहते हैं कि एनएफसी क्या है? एक फोन में इसका क्या उपयोग है? कहाँ-कहाँ इस्तेमाल होता है और इसकी मदद से आप कौन-कौनसे काम कर सकते हैंं? तो यह आर्टिकल खास आप ही के लिए है। इसलिए इसे पूरा पढ़िएगा।

NFC क्या है?

NFC का अर्थ है Near Field Communication अर्थात् निकट क्षेत्र संचार। यह दरअसल एक कम दूरी की संचार सुविधा है, जो Radio Frequency (रेडियो फ्रिक्वेंसी) की मदद से काम करती है। इसके जरिए आप किन्हीं दो Devices को आपस में टच करके या बिल्कुल पास-पास रखकर उनके बीच कम्यूनिकेट करवा सकते हैं। अर्थात् Data का आदान-प्रदान कर सकते हैं। मतलब यह कि यह बहुत ही कम दूरी की संचार सुविधा है। इसमें आपको कम्यूनिकेट करवाने के लिए या तो दोनों Devices को आपस में टच करना पड़ता है या फिर बिल्कुल सटाकर रखना पड़ता है, तभी उनके बीच संचार स्थापित हो पाता है। वरना दोनों डिवाइस आपस में कनेक्ट नहीं होते। क्योंकि इसकी रेंज बहुत ही कम (सिर्फ 10 सेमी.) होती है।

NFC काम कैसे करता है?

How Does NFC Works? दरअसल एनएफसी, RFID (Radio Frequency Identification) का ही एक उन्नत संस्करण है, जो स्मार्टफोन्स के लिए डेवलप किया गया है। यह रेडियो तरंगों की मदद से काम करता है। जब आप इसे ON करते हैं तो आपके फोन के आस-पास एक Electromagnatic Field (इलेक्ट्रॉमैग्नेटिक फील्ड) यानि कि विद्युत-चुम्बकीय क्षेत्र का निर्माण होता है, जिसकी पहुँच 10 सेमी. होती है। अब दूसरा डिवाइस, जो इस रेंज के दायरे में होता है, वह आपके फोन से कनेक्ट हो जाता है और आप उस डिवाइस के साथ कम्यूनिकेट कर सकते हैं। आमतौर पर इसकी स्पीड 106 kbps से लेकर 424 kbps तक होती है।

nfc-magnetic field
NFC Magnetic Field

NFC का काम क्या है?

वैसा देखा जाए तो NFC का मुख्य काम Data को Read, Write और Process करना है। लेकिन यह सुनने में जितना आसान लग रहा है, असल में उतना आसान है नहीं। क्योंकि हर सेक्टर के हिसाब से डाटा का प्रकार और प्रारूप अलग होता है। इसलिए NFC का काम बहुत ही जटिल है। और आजकल तो NFC का उपयोग काफी ज्यादा बढ़ गया है। आज यह कम रेंज वाली तकनीकी बहुत-सी जगहों पर इस्तेमाल हो रही है और हमारा काम आसान कर रही है। कैसे? आइए, विस्तार से जानते हैं…

1. Data Transfer

एनएफसी की मदद से आप किन्हीं दो NFC Enabled Devices के बीच Data Transfer कर सकते हैं। अगर आपके पास कोई दो ऐसे डिवाइसेज हैं, जिनमें NFC का फीचर मौजूद है तो आप उन दोनों डिवाइसेज के बीच Data का आदान-प्रदान कर सकते हैं। यानि एक डिवाइस से दूसरे डिवाइस में डाटा भेज सकते है और प्राप्त भी कर सकते हैं। अब आप कहेंगे कि यह काम तो Bluetooth भी कर सकता है, फिर NFC में कौनसे सुरखाब के पंख लगे हैं जो इसका इस्तेमाल करें? तो जनाब! ब्लूटूथ से एनएफसी लाख गुना ज्यादा बेहतर और सुरक्षित है। पूछिए क्यों?

यह भी पढ़ें: Password को Hack कैसे किया जाता है व Safety के लिए क्या उपाय करें?

क्योकि NFC की रेंज बहुत ही कम है। और यही इसकी सबसे बड़ी ताकत है। नहीं समझे? अरे भाई, जब आप ब्लूटूथ की रेंज होती है तकरीबन 100 के आसपास। मतलब, अगर आप ब्लूटूथ ON करेंगे तो 100 मीटर के दायरे में मौजूद कोई भी व्यक्ति आपके ब्लूटूथ से कनेक्ट हो सकता है और आपका फोन हैक करके आपका कीमती Data चोरी कर सकता है। लेकिन NFC में यह बिल्कुल भी संभव नहीं है। क्योंकि NFC की तो अधिकतम रेंज ही 10 सेमी. है, यानि कि सिर्फ 4 इंच। इसलिए NFC डाटा शेयरिंग के मामले में काफी सुरक्षित विकल्प माना जाता है।

2. Mobile Payment

आज ऑनलाइन शॉपिंग का जमाना है। आप घर बैठे ऑनलाइन भुगतान करके कोई भी सामान खरीद सकते हैं। इसके अलावा आजकल बड़े-बड़े शॉपिंग मॉल्स, पैट्रोल पंप, हॉस्पिटल और होटल्स में भी Online Payment करने की सुविधा है। लेकिन शॉपिंग मॉल, हॉटल आदि में ऑनलाइन पेमेन्ट करने के लिए आपको पिन या पासवर्ड एंटर करना पड़ता है। परन्तु NFC के जरिए पेमेन्ट करते वक्त जैसे ही आप अपने फोन को किसी Payment Point के पास लेकर जाते हैं, यह Automatically कनेक्ट हो जाता है। और आपके फोन में एक Confirmation मैसेज Show होता है। और जैसे ही आप Confirm पर टैप करते हैं, पेमेन्ट हो जाता है। इस तरह NFC से पेमेन्ट करना सबसे सरल है।

यह भी पढ़ें: ऑनलाइन शॉपिंग Fraud कैसे किया जाता है व इससे कैसे बचें? साइबर सिक्योरिटी

3. NFC Tags

आपने छोटे-छोटे बटन के आकार के रंग-बिरंगे एनएफसी टैग्स तो जरूर देखे होंगे, जो कई तरह के डिजायन में आते हैं। अगर नहीं देखे तो आप नीचे दिए गए चित्र में देख सकते हैंं। इन्हें NFC Chip भी कहा जाता है। (चित्र देखें)

NFC-Tags-NTags
NFC Tags (NTags)

NFC Tags को शॉर्ट में NTags भी कहा जाता है। इनका इस्तेमाल Data को Store करने के लिए किया जाता है। ये एक छोटे मैमोरी कार्ड की तरह होते हैं लेकिन इनकी Storage Capicity बेहद कम होती है। यानि कि इनमें आप मैमोरी कार्ड की तरह गाने, वीडियो आदि सेव नहीं कर सकते। ये सिर्फ कम साईज की फाईल्स और सूचनाओं को Store करने के लिए इस्तेमाल होते हैं। NFC Tags में आप Contact नम्बर, डिजिटल बिजनेस कार्ड, WiFi Password आदि को स्टोर कर सकते हैं। इसके अलावा अपने स्मार्टफोन्स के काफी सारे Tasks को Perform करवा सकते हैं।

NFC Tags में आप बार-बार Data को Delete और Write कर सकते हैं। इसके लिए आप NFC/RF Reader & Writer और Tasker जैसी ऐप्स की मदद ले सकते हैं। इन ऐप्स में कई सारे Tasks दिए गए हैं, जिन्हें आप NFC Tag में Write कर सकते हैं। जैसे कि फ्लैशलाइट को ऑन/ऑफ करना, अलार्म सेट करना, प्रोफाइल बदलना, ब्राइटनेस को कम-ज्यादा करना, वॉल्यूम को कम-ज्यादा करना, ब्लूटूथ को ऑन-ऑफ करना, फोन को साइलेंट या ऑन-ऑफ करना, मोबाइल डाटा को ऑन-ऑफ करना, किसी स्पेसिफिक नम्बर पर कॉल या मैसेज करना, किसी वेबसाइट को ओपन करना आदि-आदि।

4. Business Card

आजकल बिजनेसमैन कागज के बिजनेस कार्ड्स की जगह NFC Integrated Business Cards का इस्तेमाल करने लगे हैंं। इन कार्ड्स में एक NFC Chip लगी होती है जिसमें बिजनेस से जुड़ी जरूरी जानकारी डिजिटल फॉर्म में सेव रहती है, जैसे कि कंपनी का नाम, पता, फोन नम्बर, ईमेल आईडी, वेबसाईट का लिंक आदि। जब कोई बिजनेस कार्ड मांगता है तो कार्ड को उसके फोन से टच कर दिया जाता है, और टच करते ही सारी डिटेल्स उसके फोन में चली जाती है। यह काफी सस्ता पड़ता है, क्योंकि हरेक व्यक्ति को अलग से कार्ड नहीं देना पड़ता। एक ही कार्ड को हर जगह इस्तेमाल किया जा सकता है।

5. Smart Cards

चुम्बकीय पट्टी वाले Credit और Debit Cards की जगह अब NFC युक्त Smart Cards का इस्तेमाल शुरू हो गया है। Visa और MasterCard जैसी कंपनियाँ अब NFC युक्त Smart Cards बना रही हैं। और आने वाला समय Smart Cards का ही है। NFC Integrated Smart Cards में चुम्बकीय पट्टी की बजाय एक NFC Chip लगी होती है और उसी में बैंक और कार्ड की सारी डिटेल सेव रहती है। स्मार्ट कार्ड्स Online Payment की प्रक्रिया को काफी तेज और आसान बनाते हैं। साथ ही इनकी मदद से पेमेन्ट करना काफी सुरक्षित माना जाता है।

उम्मीद करता हूँ, इस आर्टिकल के जरिए आपको NFC के बारे में काफी उपयोगी जानकारी मिली होगी। अगर आपको यह आर्टिकल पसंद आया तो इसे Like और Share कीजिए। और, ऐसे ही और ज्ञानवर्धक आर्टिकल्स के लिए ‘टेकसेवी डॉट कॉम’ को Subscribe कर लीजिए, ताकि जब भी कोई नया आर्टिकल प्रकाशित हो तो आपको उसका नोटिफिकेशन मिल जाए।

इन्हे भी पढ़ें (खास आपके लिए) :-

Comment