नया और पुराना Phone खरीदते समय किन-किन बातों का ध्यान रखना चाहिए?

Phone-Buying-Guide

मुझसे लोग अक्सर पूछते हैं कि हमें Phone खरीदते समय किन-किन बातों का ध्यान रखना चाहिए? मेरी जान-पहचान वाले और दोस्त लोग जब भी कोई Phone खरीदने जाते हैं तो वे हमेशा यही पूछते हैं कि कौनसा फोन खरीदें? उसमें कौन-कौनसे फीचर्स होने चाहिए? और हम फोन में कौन-कौनसी चीजों को चैक करके देखें? आदि-आदि। तो मैं इस सवाल का बहुत ही आसान भाषा में जवाब देना चाहूँगा।  लेकिन उससे पहले आप मुझे यह बताइए कि आप New Phone खरीद रहे हैं या Second hand? खैर,चलिए, मैं आपको दोनों के बारे में ही बता देता हूँ।

Phone Buying Guide

अगर आप नया Phone खरीद रहे हैं तो यह इस बात पर भी निर्भर करता है कि आप कहाँ से खरीद रहे हैं? मेरा मतलब ऑनलाइन (Flipkart, Amazon आदि से) या फिर ऑफलाइन (किसी दुकान से)? अगर आप Online खरीद रहे हैं तब तो आप फोन को खरीदने से पहले चैक कर नहीं सकते। और अगर आप किसी दुकान से खरीद रहे हैं, तब आप जरूर चैक कर सकते हैं।

यह भी पढ़ें: अपने एंड्रॉयड स्मार्टफोन की कड़ी सुरक्षा के लिए अपनाऐं ये 10 जरूरी टिप्स

वैसे नये फोन में ज्यादा कुछ चैक करने की जरूरत नहीं होती है। क्योंकि कंपनी पहले से ही अच्छी तरह फोन को टेस्ट करके भेजती है। फिर भी कुछ ऐसे Features हैं जिन्हें आप अपनी संतुष्टि के लिए एक बार अवश्य चैक करें, जैसे कि –

इन Features को जरूर चैक करें

कैमरा : कैमरा को ओपन करके देखें और फोटो-वीडियो की क्वालिटी चैक करें। साथ ही यह भी चैक कर लें कि Camera में पोर्ट्रेट मोड, स्लो-मोशन और फास्ट-मोशन जैसे जरूरी फीचर्स हैं या नहीं। इन फीचर्स का होना न होना बजट पर भी निर्भर करता है। फिर भी आजकल 15,000 रूपये के बजट में आने वाले करीब-करीब Smartphones में ये कैमरा फीचर्स आते हैं।

स्पीकर : अगर आप बिना Headphones के गाने सुनते हैं तो Speaker को अवश्य चैक करें। फोन में कोई गाना या वीडियो चलाकर देखें और चैक करें कि स्पीकर लाउड है या नहीं? साथ ही Sound Quality भी चैक करें और यह भी देखें कि वॉल्युम फुल करने पर आवाज फटती तो नहीं है?

वाई-फाई : फोन को WiFi Network या Hotspot से कनेक्ट करके देखें कि कहीं कोई गड़बड तो नहीं है?

यह भी पढ़ें: इतने अच्छे फीचर्स के बावजूद Xiaomi के Phones इतने सस्ते क्यों होते हैं? 10 कारण

प्रोसेसर : Processor और प्रोसेसिंग स्पीड अवश्य चैक करें। देखें कि ऐप्स को ओपन होने और लोड होने में सामान्य से ज्यादा समय तो नहीं लग रहा? फोन स्मूदली काम कर रहा है या नहीं? Phone Hang तो नहीं हो रहा?

टच रिस्पॉन्स : फोन की स्क्रीन को अच्छी तरह टच करके देखें। कई बार फोन का Touch Response थोड़ा Slow होता है, और आपके टच करने के एक-दो सैकंड बाद रिस्पॉन्ड करता है। ऐसा फोन लेने पर बाद में आपको काफी परेशानी हो सकती है।

रैम और स्टोरेज : आजकल ज्यादातर Smartphones अलग-अलग स्टोरेज वेरिएंट में आते हैं। ऐसे में आप पहले ही तय कर लें कि आपको फोन में कितना स्टोरेज चाहिए। आपको बताना चाहूँगा कि जितना स्टोरेज कंपनी द्वारा बताया जाता है और बॉक्स पर लिखा होता है, उतना स्टोरेज फोन में खाली नहीं मिलता है। इसलिए स्टोरेज सेटिंग्स में जाकर चैक कर लें फोन में आपके इस्तेमाल के लिए कितना स्पेस खाली है और यह आपके लिए पर्याप्त है या नहीं?

सॉफ्टवेयर इन्फोर्मेशन : अगर आप नया Phone खरीद रहे हैं तो कोशिश करें कि उसमें Latest Software हो। ताकि दो साल तक Updates मिलते रहें। इससे आपका फोन समय के साथ-साथ अप-टू-डेट, सुरक्षित और फास्ट बना रहेगा।

यह भी पढ़ें: Adaptive Battery फीचर क्या है और यह कैसे काम करता है? इसे एक्टिव कैसे करें?

बैटरी क्षमता : फोन की Battery Capacity अवश्य चैक करें कि यह आपके उपयोग के हिसाब से पर्याप्त है या नहीं? बैटरी जितनी ज्यादा पॉवरफुल होगी, उतनी अच्छी है। कम से कम 4000 mAh की बैटरी तो होनी चाहिए।

फास्ट चार्जिंग : अगर बैटरी बड़ी है तो Fast Charging का फीचर होना बेहद जरूरी है। इसलिए यह अवश्य चैक करें कि फोन, फास्ट चार्जिंग को सपोर्ट करता है या नहीं? अगर बड़ी बैटरी के बावजूद फोन में फास्ट चार्जिंग का फीचर नहीं है तो फोन धीमी गति से चार्ज होगा, और इसमें काफी ज्यादा वक्त लगेगा। इसलिए फास्ट चार्जिंग के फीचर को विशेष प्रथमिकता दें।

चार्जिंग/यूएसबी पोर्ट : आजकल यूएसबी टाईप-सी (USB Type-C) का जमाना है और भविष्य में आपको मोबाईल, टैबलेट, लैपटॉप, स्मार्टवॉच, पॉवरबैंक… हर गैजेट में यूएसबी टाईप-सी पोर्ट ही देखने को मिलेगा। इसलिए जहाँ तक हो सके, USB Type-C Port वाला Phone ही खरीदें।

यह भी पढे: Youtube चैनल को सफल बनाने के 7 मूलमंत्र, जो आपको कोई नहीं बताएगा

प्रदर्शन पटल (Display) : अपनी जरूरत के हिसाब से Display Size का चुनाव करें। डिस्प्ले का Resolution अवश्य चैक करें, कम से कम एचडी प्लस रिजोल्यूशन तो होना ही चाहिए। अगर आपका Budget ठीक-ठाक है तो आप फुल एचडी प्लस से कम रिजोल्यूशन वाला फोन बिल्कुल ना लें। साथ ही डिस्प्ले पैनल और Pixel Density भी अवश्य चैक करें।

हीट (गर्म होना) : आजकल बड़ी Battery के कारण हम फोन को लम्बे समय तक यूज कर पाते हैं, लेकिन इसका एक नकारात्मक पहलू भी है और वो यह है कि इससे फोन गर्म हो जाता है। वैसे तो यह नॉर्मल है लेकिन कई बार तकनीकी खराबी की वजह से फोन हद से ज्यादा गर्म हो जाता है और फट जाता है। इसलिए Phone खरीदते समय ‘बैक पैनल’ को छूकर अवश्य देखें कि कहीं फोन जल्दी (थोड़ा सा यूज करते ही) गर्म तो नहीं हो रहा?

सेंसर्स (Sensors) : बहुत-से लोगों को आज भी Sensors के बारे में जानकारी नहीं है। इसलिए Phone खरीदते समय अक्सर लोग गलती कर बैठते हैं और ऐसा फोन खरीद लेते हैं जिसमें मूलभूत सेंसर्स भी नहीं होते। इसलिए फोन खरीदते समय यह अवश्य चैक करें कि फोन में सभी जरूरी सेंसर्स हैंं या नहीं? जरूरी सेंसर्स से मेरा मतलब एक्सीलेरोमीटर, प्रोक्सिमिटी, कंपास, जायरोस्कोप और एम्बिएंट लाईट सेंसर से है।

अवश्य पढ़ें: Sensor क्या है? हमारे फोन में कौन-कौनसे सेंसर्स होते हैं और वे क्या काम करते हैं?

डिफेक्ट (खराबी) : कई बार मैन्युफैक्चरिंग के दौरान फोन में कोई न कोई कमी रह जाती है, जो बाद में खरीददार के लिए परेशानी का सबब बन जाती है। इसलिए यह चैक करना बेहद जरूरी है कि आप जो Phone खरीदने जा रहे हैं, उसमें कोई खराबी तो नहीं है? इसके लिए आप फोन को कम से कम 10-15 मिनट तक यूज करके देखें और अगर आपको फोन में कोई असामान्य गतिविधि नजर आती है, तो उसे ना खरीदें।

सर्विस सेंटर : यह चैक करना बेहद जरूरी है कि आप जिस कंपनी का Phone खरीदने जा रहे हैं, उसका सर्विस सेंटर आपके शहर में है या नहीं। क्योंकि कल को अगर आपके फोन में कोई दिक्कत आ गई तो आपको सर्विंस सेंटर की जरूरत पड़ेगी।

तो ये थी New Phone Buy करते समय ध्यान में रखने योग्य कुछ जरूरी बातें। आइए, अब जानते हैं Old (Used) Phone खरीदते समय ध्यान में रखने योग्य जरूरी बातें…

Buying Used Phone?

अगर आप कोई Used Phone खरीद रहे हैं तो आपको अत्यंत सावधानी बरतने की जरूरत है। सैकण्ड हैंड फोन बहुत ही संभलकर और भली-भाँति जाँच-परखकर खरीदना चाहिए। यह बात हमेशा ध्यान में रखें कि कहीं Phone बेचने वाला व्यक्ति किसी खामी (खराबी) की वजह से तो फोन नहीं बेच रहा है? इसके लिए आपको फोन का ‘कंपलीट टेस्ट‘ करके देखना है। Complete Test के बारे में बताने से पहले मैं आपको कुछ बेहद जरूरी बातें बताना चाहूँगा।

सभी फीचर्स चैक करें : अगर आप Used Smartphone खरीद रहे हैं, तब भी उपर नये फोन के लिए बताए गए सभी फीचर्स चैक करें। इसके अलावा Mobile Data, WiFi और Hotspot भी यूज करके देखें कि नेटवर्क सिग्नल्स और कनेक्टिविटी में कोई प्रोब्लम तो नहीं है?

अवश्य पढ़ें: बच्चों को फोन से दूर रखने का सही तरीका क्या है? उन्हें किस उम्र में फोन देना चाहिए?

फीजिकल हेल्थ : Second Hand Phone खरीदते समय यह चैक करना बेहद जरूरी हो जाता है कि फोन की बॉडी पर चोट, डेन्ट, रगड़ या खरोंच के निशान तो नहीं हैं? Display को बारीकी से चैक करें। Phone को तिरछा करके देखें कि डिस्प्ले कहीं क्रैक तो नहीं है? इसके अलावा यह भी देखें कि फोन कहीं पानी में गिरा हुआ तो नहीं है? साथ ही फिजिकल बटन्स (पॉवर और वॉल्यूम बटन) को भी दबाकर देखें कि वे ठीक-से काम कर रहे हैं या नहीं।

ओरिजनल बिल : जब भी आप कोई Used Phone Buy करें तो उसका ओरिजनल बिल लेना कभी न भूलें। सिर्फ बिल लेना ही काफी नहीं है, बिल को अच्छी तरह चैक करना भी जरूरी है। बिल में लिखी तारीख, दुकान नाम-पता, फोन का मॉडल नम्बर और IMEI जैसी चीजों पर गौर करें और देखें कि बिल कहीं फर्जी तो नहीं है? क्योंकि आजकल चोरी के Phones बेचने के लिए शातिर लोग Duplicate Bill का सहारा लेते हैं। इसलिए आप Phone के साथ ओरिजनल एसेसरीज लेना ना भूलें। आपको बताना चाहूँगा कि चोरी किए हुए फोन के साथ ओरिजनल एसेसरीज का मिलना बहुत ही मुश्किल है।

बैटरी और चार्जिंग : Used Phone का बैटरी बैकअप नये फोन के मुकाबले थोड़ा कम होता है। यह बिल्कुल नॉर्मल है। लेकिन अगर बैटरी बैकअप सामान्य से कुछ ज्यादा ही कम है या यूँ कहें कि फोन की बैटरी जल्दी-जल्दी खत्म हो रही है तो इसका मतलब यह हो सकता है कि बैटरी खराब है। इसके अलावा फोन को चार्ज भी करके देखें कि कहीं Charging Port में कोई खराबी तो नहीं है?

अवश्य पढ़ें: क्या रातभर चार्जिंग में लगाए रखने से फोन में विस्फोट हो सकता है? मिथ vs सच

तो यह तो हो गई Used Smartphone खरीदते समय ध्यान रखने योग्य कुछ जरूरी बातें। आइए, अब बात करते हैं ‘कंपलीट टेस्ट’ के बारे में तो इसके लिए आपको एक App की जरूरत पड़ेगी और इस ऐप का नाम है – TestM Hardware (टेस्टएम हार्डवेयर) यह बड़े ही काम की ऐप है और इसे आप Google Play Store से मुफ्त में डाउनलोड कर सकते हैं। (स्क्रीनशॉट : गूगल प्ले स्टोर पर मौजूद TestM Hardware ऐप)

testm-app
TestM Hardware App (Screenshot)

TestM Hardware ऐप को उस Used Phone में इंस्टॉल करें, जिसे आप खरीदना चाहते हैं। इंस्टॉल करने के बाद ऐप को ओपन कीजिए और शुरू हो जाइए। आपको बताना चाहूँगा कि इस ऐप की मदद से आप वाईब्रेशन, फ्लैश, माईक, स्पीकर, साउण्ड्स, कनेक्टिविटी, नेटवर्क स्ट्रेंथ, टच रिस्पॉन्स, सेंसर्स और बहुत से अन्य फीचर्स को टेस्ट करके देख सकते हैं। इसका यूजर- इंटरफेस काफी साफ-सुथरा है और इसे यूज करना बेहद आसान है।

तो दोस्तों, इस तरह से आप जरूरी जाँच-पड़ताल करके अपने लिए एक बेहतर Smartphone का चुनाव कर सकते हैं और बहुत-सी परेशानियों से बच सकते हैं। उम्मीद करता हूँ यह आर्टिकल आपको पसंद आया होगा। अगर पसंद आया तो इसे Like और Share कीजिए। और ऐसे ही और Articles के लिए ‘टेकसेवी डॉट कॉम’ को Subscribe कर लीजिए। ताकि जब भी कोई नया आर्टिकल प्रकाशित हो, आपको उसका Notification मिल जाए।

अवश्य पढ़ें (खास आपके लिए) :- 

मैं मेघराज मुंशी, एक वेब डिजायनर, ग्राफिक आर्टिस्ट और ब्लॉगर हूँ। वैसे पेशे से मैं एक शिक्षक हूँ और शिक्षा विभाग राजस्थान में कार्यरत हूँ। पढ़ने-पढ़ाने और लिखने के अलावा मुझे फिल्में देखना बहुत पसंद है। साहित्य, संगीत, सिनेमा, अंतरिक्ष, विज्ञान और तकनीकी मेरे पसंदीदा विषय हैं।

Comment