Sensor क्या है? हमारे फोन में कौन-कौनसे सेंसर्स होते हैं और वे क्या काम करते हैं?

mobile-sensors

अगर आप एक स्मार्टफोन यूजर हैं तो आपने सेंसर (Sensor) का नाम जरूर सुना होगा। क्योंकि आपके फोन में भी कई सारे Sensors लगे हैं, जो फोन यूज करते वक्त आपकी काफी मदद करते हैं। लेेकिन क्या आपको मालूूूम है आपके फोन में कौन-कौनसे सेेंसर्स हैंं और वे क्या काम करते हैैं? नहीं मालूम? चलो, कोई बात नहीं। क्योंकि आज हम Sensors के बारे में ही बात करने वाले हैं। तो आइए, जानते हैं कि सेंसर्स क्या होते हैं और ये क्या काम आते हैं? साथ ही हमारे Smartphone में इस्तेमाल होने वाले मुख्य Sensors कौन-कौनसे हैं और उनका क्या काम है? तो चलिए, शुरू से शुरू करते हैं।

What is Sensor?

Sensor शब्द का शाब्दिक अर्थ है Sense करने वाला। अर्थात् अनुभव या महसूस करने वाला। दरअसल Sensor एक ऐसा उपकरण है, जो किसी वस्तु की स्थिति, दिशा, गति, दबाव और तापमान जैसी चीजों को महसूस करने के लिए इस्तेमाल किया जाता है। वैसे तो ‘सेंसर’ का इस्तेमाल बहुत-से उपकरणों में किया जाता है, जैसे कि फिटनेस बैंड, स्मार्ट टीवी, रोबोट्स, सेटेलाइट्स आदि। लेकिन यहाँ हम सिर्फ स्मार्टफोन की बात कर रहे हैं तो मैं आपको बताना चाहूँगा कि जिस तरह हम इंंसान सर्दी और गर्मी को महसूस कर सकते हैं ठीक वैसे ही हमारा स्मार्टफोन भी इन Sensors की मदद से बहुत-सी चीजों को महसूस कर सकता है।

यह भी पढ़ें: इतने अच्छे फीचर्स के बावजूद Xiaomi के फोन्स इतने सस्ते क्यों होते हैं? टॉप-10 कारण

Sensors का काम क्या होता है?

दरअसल हमारे स्मार्टफोन में अलग-अलग तरह के कई सारे सेंसर्स होते हैं, जिनका अलग-अलग काम होता है। लेकिन इन सबका मकसद एक ही होता है, स्मार्टफोन को बेहतर ढंग से यूज करने में सहयोग करना। अर्थात् स्मार्टफोन की उपयोगिता बढ़ाना। क्योंकि सेंसर्स की वजह से एक स्मार्टफोन को Use करना काफी आसान हो जाता है। कैसे? चलिए, इसे एक छोटे-से उदाहरण के माध्यम से समझते हैं।

मान लीजिए आप कोई कार रेसिंग का गेम खेल रहे हैं। और कार को दाँये-बाँये मोड़ने के लिए आपको बार-बार फोन की स्क्रीन पर टैप पड़ रहा है। लेकिन अगर आपके फोन में Gyroscope सेंसर लगा दिया जाए तो आपको स्क्रीन पर टैप वाले काम से छुटकारा मिल जाएगा और आप सिर्फ फोन को दाँयेंं-बाँयें झुकाकर ही कार को मनचाही दिशा में मोड़ पाऐंगे। ठीक इसी तरह हमारे फोन में और भी बहुत-से सेंसर्स होते हैं जो अलग-अलग काम के लिए इस्तेमाल होते हैं। आइए, जानते हैं इनके बारे में एक-एक करके… (List Of All Smartphone Sensors)

1. Accelerometer (एक्सीलेरोमीटर)

यह बहुत ही कॉमन और जरूरी सेंसर है जो लगभग हर फोन में देखने को मिल जाता है। इसका काम है फोन के सॉफ्टवेयर को यह बताना कि आपने फोन को किस तरह पकड़ रखा है? यानि कि सीधा पकड़ रखा है या आड़ा? उसी हिसाब से यह फोन की स्क्रीन को Rotate कर देता है यानि घुमा देता है। आपने अपने फोन में Auto Rotate का ऑप्शन तो जरूर देखा होगा? वह इसी सेंसर की मदद से काम करता है। Videos देखते वक्त यह सेंसर आपकी खूब मदद करता है।

यह भी पढ़ें: नोमोफोबिया (Nomophobia) क्या है? इसकी पहचान कैसे करें? लक्षण, नुकसान और बचाव

2. Gyroscope (जायरोस्कोप)

यह एक्सीलेरोमीटर का ही उन्नत संस्करण (Advanced Version) है। जो आपको Accurate बता देता है कि आपने फोन को किस एंगल से पकड़ा हुआ है। और आपका फोन किस तरफ कितने डिग्री झुका हुआ है। यह सेंंसर 360° वीडियोज देखने के लिए Use होता है। साथ ही इसकी मदद से आप 360° वीडियोज रिकॉर्ड भी कर सकते हैं। इसके अलावा जब आप Panorama Mode में कोई फोटो क्लिक करते हैं तो उसमें भी यह सेंसर आपकी काफी मदद करता है। और Games खेलने में तो इसका सबसे ज्यादा Use होता है। आपने देखा होगा कि जब आप अपने फोन में Car Racing जैसा कोई Game खेलते हैं तो फोन को दाँयें-बाँयें, उपर-नीचे करके आप कार को कंट्रोल करते हैं, यह सब इसी Sensor की मदद से होता है।

gyroscope-sensor-working
Gyroscope Sensor Working (Wikipedia)

3. Proximity (प्रोक्सीमिटी)

यह सेंसर भी आपको करीब-करीब सभी फोन्स में देखने को मिल जाएगा। यह Basically कई सारे काम करता है। यह फोन के आस-पास होने वाली हलचल का पता लगा लेता है और उसकी फोन से दूरी भी माप लेता है। आपने देखा होगा कि जब कॉल करते वक्त आप फोन को कान के पास लेकर जाते हैं तो उसकी स्क्रीन ऑफ हो जाती है। इसके दो फायदे होते हैं। पहला, फोन की बैटरी बचती है। और दूसरा, अगर फोन की स्क्रीन चेहरे से टच भी हो जाए तो भी कॉल Disconnect नहीं होती।

इसके अलावा जब आपके फोन पर किसी का कॉल आ रहा हो और आप फोन को टच कर दें या फिर उल्टा कर दें, मेरा मतलब फोन की स्क्रीन जमीन की तरफ कर दें तो फोन म्यूट हो जाएगा। यानि कि रिंगटोन बजनी बंद हो जाएगी। इतना ही नहीं, प्रोक्सीमिटी सेंसर की मदद से आप न सिर्फ अपने के इशारे से फोन की स्क्रीन को On/Off कर सकते हैं बल्कि कॉल भी रिसीव कर सकते हैं।

यह भी पढ़ें: Quora क्या है? क्या यह वाकई ऑनलाइन कमाई के लिए सबसे आसान और भरोसेमंद विकल्प है?

4. Ambient Light Sensor (एंबियंट लाईट सेंसर)

यह सेंसर फोन की Light को कंट्रोल करता है। आपने अपने फोन में Auto Brightness का ऑप्शन तो जरूर देखा होगा जो आस-पास की Lighting Condition के हिसाब से Screen की Brightness को Automatically Adjust कर देता है। जब आप Indoor या अंधेरे में होते हैं तो यह ब्राइटनेस को बिल्कुल कम कर देता है। वहीं जब आप Outdoor या सूर्य की धूप में होते हैं तो यह ब्राइटनेस को फुल कर देता है। यानि की Ambient Light Sensor आपके फोन की ब्राइटनेस को कंट्रोल करता है, जिसकी वजह से फोन की बैटरी लाईफ बढ़ जाती है।

5. Compass/Magnetometer (कंपास/मैग्नेटोमीटर)

यह सेंसर Magnet यानि कि चुम्बक की मदद से काम करता है। यह हमारे फोन में दिशा सूचक यंत्र (Compass) का काम करता है। Google Maps में दिशाओं (Directions) का पता लगाने और अपनी मौजूदा (Current) लोकेशन पता करने के लिए इसी सेंसर का इस्तेमाल किया जाता है। साथ ही यह सेंसर मैग्नेटिक फील्ड को मापने का काम भी करता है। इसके अलावा अगर आप किसी घने जंगल या समुद्र के बीच खो गए हैं और आपको पता नहीं चल रहा कि कौनसी दिशा किस तरफ है? तो आप इस सेंसर की मदद से अपने फोन में देखकर पता लगा सकते हैं और अपने लिए सही रास्ता ढूँढ़ सकते हैं। लोकेशन आधारित ऐप्स में इस सेंसर का सबसे ज्यादा इस्तेमाल होता है।

यह भी पढ़ें: इतने अच्छे फीचर्स के बावजूद Xiaomi के फोन्स इतने सस्ते क्यों होते हैं? टॉप-10 कारण

6. Fingerprint Sensor (फिंगरप्रिंट सेंंसर)

इस सेंसर के बारे में शायद मुझे ज्यादा कुछ बताने की जरुरत नहीं है, क्योंकि आप सब इसके बारे में Already जानते हैं। पहले तो यह सिर्फ महंगे फोन्स में ही देखने को मिलता था लेकिन अब तो कम बजट वाले सस्ते फोन्स में भी आसानी से देखने को मिल जाता है। यह सेंंसर मुख्यतया Security के लिए इस्तेमाल होता है। इसकी मदद से आप अपने अंगूठे की छाप (Fingerprint) से अपने फोन को अनलॉक कर सकते हैं। इसे काफी Safe और Secure माना जाता है।

इसलिए आजकल बहुत-सी कंपनियाँ इसे अपने सिक्योरिटी सिस्टम का हिस्सा बना रही हैं। अब फिंगरप्रिंट सेंसर का काम सिर्फ फोन अनलॉक करना नहीं रह गया है। बल्कि आजकल इसका इस्तेमाल ऑनलाइन पेमेंट गेटवे से लेकर उच्च गुणवत्ता वाले सुरक्षा उपकरणों तक में होने लगा है। और धीरे-धीरे इसका दायरा और बड़ा होता जा रहा है।

7. Barometer (बैरोमीटर)

यह सेंसर आपको सिर्फ कुछ गिने-चुने स्मार्टफोन्स में ही देखने को मिलता है। यह किसी स्थान विशेष की समुद्रतल से ऊँचाई ज्ञात करने के काम आता है। साथ ही कुछ Health से Related Apps में भी इसका उपयोग होता है, जो आपको यह बताती हैं कि किसी पहाड़ पर आपने कितनी चढ़ाई की और कितने नीचे उतरे। यानि कि पर्वतारोहण का रिकॉर्ड रखने वाली Fitness Apps में यह सेंसर काफी महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है।

यह भी पढ़ें: दुनिया की 10 सबसे फालतू और वाहियात Apps, जो हर फोन में देखने को मिल जाती हैं

8. Thermometer (थर्मोमीटर)

वैसे तो हर फोन के अंदर एक थर्मोमीटर सेंसर होता है जो फोन के अंदर का तापमान (Internal Temperature) मापने के लिए Use होता है, जैसे कि CPU का तापमान। लेकिन कुछ महंगे फोन्स में बाहर का तापमान (External Temperature) मापने के लिए भी अलग से एक थर्मोमीटर सेंसर होता है जो आपको आस-पास के वातावरण का तापमान भी बता देता है। इस Sensor की मदद से आप यह जान सकते हैं कि आप जहाँ रह रहे हैं, वहाँ का तापमान कितना है? इसके अलावा मौसम विभाग के उपकरणों और बहुत-से इलेक्ट्रॉनिक डिवाइसेज जैसे कि माइक्रोवेव ऑवन, फ्रीजर आदि में भी इस सेंसर का इस्तेमाल किया जाता है।

9. Pedometer (पैडोमीटर)

यह सेंसर ज्यादातर Fitness Bands में देखने को मिलता है। स्मार्टफोन्स में इसका इस्तेमाल बहुत कम होता है। इसलिए यह आपको सिर्फ गिने-चुने फ्लैगशिप स्मार्टफोन्स में ही देखने को मिलेगा। यह आपके Foot Steps को बिल्कुल सही-सही Count कर सकता है। हालांकि यह काम Accelerometer सेंसर भी कर सकता है। लेकिन Acceleometer सेंंसर की गणना Pedometer जितनी Accurate नहीं होती। इसीलिए Fitness Bands में पैडोमीटर सेंसर का ही इस्तेमाल किया जाता है।

अवश्य पढ़ें: अपना खोया हुआ फोन ढूँढ़ें मात्र एक क्लिक में, कैसे? जानिए सबसे आसान तरीका

10. Air Humidity Sensor (एयर ह्युमिडिटी सेंंसर)

Air यानि हवा और Humidity यानि नमी। अर्थात् हवा में मौजूद पानी की मात्रा। Air Humidity Sensor आपको यही बताता है कि आपके आस-पास मौजूद हवा में नमी की मात्रा कितनी है। अगर आपके आस-पास के वातावरण में नमी की मात्रा बढ़ जाती है और मौसम खराब होने लगता है तो यह सेंसर आपके फोन के माध्यम से आपको एक Warning भेज देता है जिसमें बिगड़ते हुए मौसम की जानकारी होती है। आपको बताना चाहूँगा कि यह सेंसर भी स्मार्टफोन्स में बहुत कम देखने को मिलता है। यह आपको Samsung के कुछ फ्लैगशिप स्मार्टफोन्स में ही देखने को मिलेगा।

11. Infrared Sensor (इन्फ्रारेड सेंसर)

इस सेंंसर को IR Sensor और Remote Sensor भी कहा जाता है। इसकी मदद से आप अपने फोन को रिमोट की तरह इस्तेमाल कर सकते हैं, जैसे कि TV रिमोट, AC रिमोट, सेटअप बॉक्स रिमोट, DVD प्लेयर रिमोट आदि। यानि कि इस सेंंसर की मदद से आप रिमोट से Operate होने वाले उपकरणों को अपने फोन से Control कर सकते हैं। यह Sensor आपको Xiaomi (श्याओमी) के फोन्स में आसानी से देखने को मिल जाएगा।
तो दोस्तों, ये थे स्मार्टफोन्स में इस्तेमाल होने वाले मुख्य Sensors (List of all smartphone sensors) उम्मीद करता हूँ यह आर्टिकल आपको पसंद आया होगा। लेकिन अगर अभी भी आपके मन में इस टॉपिक से जुड़ा कोई सवाल है तो आप नीचे कमेंट बॉक्स में पूछ सकते हैं। साथ ही अगर इस आर्टिकल या techsevi.com के संबंध में आप कोई सुझाव देना चाहते हैंं तो आपका स्वागत है! आपके सुझावों का मुझे इंतजार रहेगा।

अवश्य पढ़ें: Adaptive Battery फीचर क्या है और यह कैसे काम करता है? इसे एक्टिव कैसे करें?

मैं मेघराज मुंशी, एक वेब डिजायनर, ग्राफिक आर्टिस्ट और ब्लॉगर हूँ। वैसे पेशे से मैं एक शिक्षक हूँ और शिक्षा विभाग राजस्थान में कार्यरत हूँ। पढ़ने-पढ़ाने और लिखने के अलावा मुझे फिल्में देखना बहुत पसंद है। साहित्य, संगीत, सिनेमा, अंतरिक्ष, विज्ञान और तकनीकी मेरे पसंदीदा विषय हैं।

Comment