You are here : HomeExplanationeRUPI

eRUPI क्या है? यह कैसे काम करता है? इसे कैसे Use करें?

eRUPI-Kya-Hai-e-RUPI-eRupee

हाल ही में भारत सरकार ने एक नया डिजिटल पेमेंट सिस्टम लॉन्च किया है, जिसे e-RUPI या eRupee का नाम दिया गया है। लेकिन कुछ लोग इसे क्रिप्टोकरेंसी समझ रहे हैं। क्योंकि RBI लम्बे समय से अपना खुद का Crypto Coin लॉन्च करने की बात कह रही थी। इसीलिए लोगों ने सोचा कि यह वही Coin है, जो RBI लॉन्च करने वाली थी। लेकिन असल में यह कोई क्रिप्टोकरेंसी नहीं है। तो फिर eRUPI Kya Hai? और यह क्रिप्टोकरेंसी से किस तरह अलग है? आइए, विस्तार से जानते हैं।

eRUPI (ई-रूपी)

02 अगस्त 2021 को प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने eRUPI को लॉन्च किया। और इसके बारे में विस्तार से जानकारी दी। साथ ही इसके फायदे गिनाते हुए बताया कि यह एक डिजिटल भुगतान सिस्टम है! जो बिना किसी App, Credit Card, Debit Card और Internet Banking के काम करता है। इसके लिए किसी भी स्मार्टफोन या इंटरनेट की जरूरत नहीं है। हालांकि यह डिजिटल भुगतान का एक माध्यम है। लेकिन Digital Currency या Cryptocurrency नहीं है।

अवश्य पढ़ें: Cryptocurrency क्या है? यह कैसे काम करती है? Explanation

ई-रूपी एक Secure Payment System है, जो User के Data को पूरी तरह गोपनीय रखता है। इसे DFS (Department of Financial Services) और NHA (National Health Authority) के सहयोग से विकसित किया गया है। और NPCI (National Payment Corporation of India) द्वारा Manage किया जाता है। मगर सवाल यह है कि ई-रूपी आखिर है क्या? What is eRUPI? और यह काम कैसे करता है? आइए, समझते हैं।

eRUPI क्या है?

ई-रूपी (eRUPI) का फुल फॉर्म है Electronic Rupee Unified Payment Interface. यह दरअसल e+R+UPI से मिलकर बना है। जिसमें e का मतलब इलेक्ट्रॉनिक, R का मतलब रूपी और UPI का मतलब यूनिफाइड पेमेंट इंटरफेस है। यह एक Cashless और Contactless Digital Payment Service है, जो BHIM UPI पर आधारित है। यह SMS और QR Code की मदद से काम करता है।

इसमें पैसे भेजने और प्राप्त करने वाले के बीच सीधे लेन-देन होता है। यानि कि बीच में कोई Mediator नहीं होता। इसीलिए यूजर का Data पूरी तरह सुरक्षित रहता है। हालांकि यह फीचर आमतौर पर क्रिप्टोकरेंसीज में देखने को मिलता है। लेकिन eRUPI Cryptocurrency नहीं है। यह सिर्फ एक Digital e-Voucher है, जो एक Prepaid Card की तरह काम करता है।

eRUPI कैसे काम करता है?

ई रूपी असल में एक Prepaid Recharge Coupon की तरह काम करता है। यानि कि इसमें एक निश्चित Amount Stored होता है। जो Reedem करने पर Beneficiary के अकाउंट में जमा हो जाता है। ठीक उसी तरह, जिस तरह रिचार्ज कूपन से रिचार्ज करने पर रिचार्ज कूपन की राशि मोबाइल अकाउंट में जमा होती है। ई-रूपी (कोड) लाभार्थी के रजिस्टर्ड मोबाइल नम्बर पर SMS या QR Code के जरिए भेजा जाता है। जो सिर्फ लाभार्थी को देय होता है। यानि कि कोई दूसरा इसे Reedem नहीं कर सकता।

अवश्य पढ़ें: Bitcoin क्या है? बिटकॉइन खरीदने की स्टेप-बाई-स्टेप प्रोसेस

उदाहरण के लिए मान लीजिए कि आप किसी सरकारी योजना के लाभार्थी हैं। और सरकार आपको 2000 रूपये का लाभ देना चाहती है। तो सरकार आपके नाम से 2000 रूपये का एक eRUPI eVoucher बनवाएगी। और आपके रजिस्टर्ड मोबाइल नम्बर पर SMS या QR Code के जरिए भेज देगी। अब जैसे ही आप इसे Reedem करेंगे, 2000 रूपये आपके बैंक अकाउंट में जमा हो जाऐंगे।

ई-वाऊचर कौन जारी करेगा?

अब सवाल यह है कि लाभार्थी को जो e-Voucher भेजा जाएगा, उसे जारी कौन करेगा? तो यह काम बैंकों को दिया गया है। इसके लिए कुछ अधिकृत Banks हैं, जो UPI Platform पर आधारित ई-वाऊचर्स जारी करेंगे। इसके लिए संबंधित बैंक को Beneficiaries का विवरण देना होगा। जैसे कि लाभार्थियों के मोबाइल नम्बर, भुगतान की जाने वाली राशि, उसका उद्देश्य आदि।

उदाहरण के लिए मान लीजिए कि एक कंपनी है। जो अपने कर्मचारियों को किसी खास उद्देश्य के लिए पाँच-पाँच हजार रूपये के eRUPI Vouchers देना चाहती है। तो ऐसी स्थिति में कंपनी को अपने बैंक से संपर्क करना होगा। और उन सभी कर्मचारियों का विवरण देना होगा, जिनके लिए ई-वाऊचर्स जारी करवाने है। जैसे ही बैंक को विवरण मिलेगा, वह प्रत्येक कर्मचारी के लिए 5000 रूपये का ई-वाऊचर जारी कर देगा। इस तरह Businesses, Corporates और Organisations अपने Partner Bank से ई-वाऊचर्स जारी करवा सकते हैं।

अवश्य पढ़ें: Online Earning के 50 तरीके, घर बैठे Regular पैसे कमायें

ई-रूपी वाऊचर जारी करने के लिए इन 16 बैंकों के साथ साझेदारी की गई है। The List of eRUPI Issuer Banks :- 

  • Axis Bank
  • Bank of Baroda
  • Canara Bank
  • HDFC Bank
  • ICICI Bank
  • Indusind Bank
  • Indian Bank
  • Kotak Bank
  • Punjab National Bank
  • State Bank of India
  • Union Bank of India
  • Indian Overseas Bank
  • UCO Bank
  • Bank of Maharashtra
  • Bank of India
  • Central Bank of India

eRUPI की विशेषताऐं

ई-रुपी वाऊचर कई मायनों में खास है। इसमें कई ऐसी विशेषताएं हैं, जो इसे खास बनाती हैं। अगर आप एक जागरूक User हैं तो आपको इसकी विशेषताओं के बारे में जरूर जानना चाहिए। पेश हैं The characteristics of eRUPI यानि कि ईरूपी की विशेषताऐं :-

  • ई-रूपी वाऊचर, एक इनबिल्ट Tracking System के साथ आता है। जिससे यह पता लगाया जा सकता है कि जारी किए गए ई-वाऊचर को Reedem किया गया या नहीं।
  • ई-रूपी वाऊचर पूरी तरह सुरक्षित है। इसमें यूजर का डाटा पूरी तरह गोपनीय रहता है।
  • ई-रूपी वाऊचर किसी खास उद्देश्य के लिए जारी किया जाता है। और उसी के लिए इस्तेमाल किया जा सकता है।
  • लाभार्थी को उसके रजिस्टर्ड मोबाइल नम्बर से पहचाना जाता है। और उसी के जरिए भुगतान किया जाता है। इसके लिए किसी भी Credit Card, Debit Card, Internet Banking और Mobile App की जरूरत नहीं पड़ती।
  • ई-रूपी वाउचर, एक Code होता है, जो लाभार्थी को उसके रजिस्टर्ड मोबाइल नम्बर पर SMS या QR Code के जरिए भेजा जाता है। इसे रिडीम करने के लिए 2 चरण की एक Redemptions Process से गुजरना पड़ता है।
  • ईरूपी वाऊचर में पहले से एक Amount Stored होता है। इसीलिए यह Real-Time Payment का वादा करता है। 
  • ई-रुपी एक Fast, Secure & Easy To Use सर्विस है, जिसे इस्तेमाल करना काफी आसान है।

How To Use eRUPI?

अब सवाल यह है कि eRUPI को इस्तेमाल कैसे करें? क्या इसके लिए अलग-से कोई ऐप्प है? तो इसका जवाब है – नहीं। दरअसल इसके लिए कोई eRUPI App नहीं है। यह BHIM UPI पर आधारित एक Online Payment Service है। इसीलिए भीम ऐप के साथ Integrated है। आप इसे भीम ऐप्प के जरिए ही इस्तेमाल कर सकते हैं।

अवश्य पढ़ें: Online Earning Apps, ऑनलाइन कमाई के लिए टॉप-5 ऐप्स

इसके लिए गूगल प्ले स्टोर या एप्पल ऐप्प स्टोर में जाकर BHIM App डाउनलोड कीजिए। और अपने Registered Mobile Number से Signup (रजिस्टर) कीजिए। ध्यान रहे, आपको उसी मोबाइल नम्बर से रजिस्टर करना है, जो आपके Bank Account से Linked है। अगर आप पहले से भीम ऐप यूज कर रहे हैं और किसी दूसरे नम्बर से रजिस्टर कर रखा है। तो अपने फोन की Settings में जाइए। और Apps > BHIM App > Storage में जाकर Clear Data पर टैप कीजिए। 

उसके बाद भीम ऐप्प को ओपन कीजिए। और उस नम्बर से रजिस्टर कीजिए, जो आपके बैंक अकाउंट से लिंक्ड है। Registration पूरा होने के बाद अपना Bank Account Add कीजिए और उपर Right Corner में मौजूद मेन्यू के आइकॉन पर टैप कीजिए। यहाँ आपको Gift का ऑप्शन मिलेगा, उस पर टैप कीजिए और देखिए कि आपको कोई ई-रूपी वाऊचर मिला या नहीं। अगर कोई वाऊचर होगा, तो वह आपको यहाँ दिख जाएगा।

eRUPI के फायदे

अब सवाल यह है कि ई-रूपी के क्या-क्या फायदे हैं? What are the benefits of eRUPI? तो इसके कई सारे फायदे हैं। आइए, कुछ फायदों के बारे में जानते हैं। Benefits of eRUPI :-

अवश्य पढें: Reselling से कमाइए 50,000 रूपये महीना, Top-5 Reseller Apps

  • ई-रूपी एक संपर्क रहित (Contactless) भुगतान प्रणाली है। जिसके लिए किसी भी फिजिकल कार्ड, प्रिंट आऊट या डॉक्यूमेंट की जरूरत नहीं पड़ती।
  • यह सरकारी संगठनों, व्यवसायों, NGOs और प्राइवेट कंपनियों सभी के लिए Suitable है।
  • इसके जरिए प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना, गरीब कल्याण योजना, अटल पेंशन योजना और आयुष्मान भारत जैसी दर्जनों सरकारी योजनाओं का लाभ दिया जा सकता है।
  • ई-रूपी के जरिए किसानों को फसल बीमा योजना, किसान सम्मान निधि योजना और सब्सिडायरी सेवाओं का लाभ दिया जा सकता है।
  • ई-रूपी कार्ड को 1600 से ज्यादा Hospitals में स्वीकार किया जाता है। जहाँ आप eRUPI Voucher से भुगतान कर सकते हैं।
  • फिलहाल ई-रूपी कार्ड को कई सरकारी और गैर-सरकारी योजनाओं से जोड़ा जा रहा है। इसीलिए भविष्य में इसके और भी कई फायदे देखने को मिलेंगे।

eRUPI’s Security

क्या eRUPI Voucher Hack हो सकता है? क्या इसमें मौजूद Data और Amount चोरी किया जा सकता है? क्या इसके साथ छेडछाड संभव है? अगर आप एक Smart User हैं तो आपके मन में भी ये सवाल जरूर आए होंगे। लेकिन चिंता की कोई बात नहीं है। eRupee पूरी तरह सुरक्षित है। यह एक One Time Payment Voucher है, जो सिर्फ एक ही बार इस्तेमाल किया जा सकता है।

अवश्य पढ़ें: Digital Marketing क्या है? डिजिटल मार्केटिंग के प्रकार व फायदे

साथ ही इसमें जो Amount Stored होता है, वह सिर्फ Beneficiary को देय होता है। यानि कि कोई दूसरा इसे इस्तेमाल नहीं कर सकता। अगर आपका ई-वाऊचर चोरी भी हो जाए, तो आपको चिंता करने की कोई जरूरत नहीं है। क्योंकि चोर उसे Reedem ही नहीं कर पाएगा। इसके अलावा ई-रुपी वाऊचर User-To-User Transaction को फॉलो करता है। इसीलिए तीसरे व्यक्ति को पता ही नहीं चलता।

इतना ही नहीं, ई-रूपी वाऊचर में एक बार Amount Store करने के बाद सिर्फ लाभार्थी ही उसे Reedem कर सकता है। इस दौरान वाऊचर में छेड़छाड़ या बदलाव करना संभव नहीं है। रही बात Hacking की तो eRUPI को UPI Platform पर बनाया गया है, जो अब तक का सबसे सफलतम प्लेटफॉर्म है। यह पूरी तरह सुरक्षित है। इसीलिए ई-रूपी वाऊचर को हैक करना बहुत मुश्किल है। हाँ, अगर खुद चाहें तो अपना ई-रूपी वाऊचर Hack करवा सकते हैं। कैसे? चलिए, बताता हूँ।

eRUPI App Download

हालांकि ईरूपी के लिए सरकार ने कोई भी App लॉन्च नहीं की है। मगर फिर भी कई वेबसाइट्स पर eRUPI Apk Files उपलब्ध हैं। इन्हें लोग डाउनलोड भी कर रहे हैं। पता नहीं क्यों, पर कर रहे हैं। ये असल में Official Apps नहीं हैं। अगर आप भी इसी तरह की कोई Third Party App यूज कर रहे हैं, तो आपका Data चोरी हो सकता है। और आपका Phone भी Hack हो सकता है। क्योंकि eRUPI App के नाम पर जो Apk Files मिल रही हैं, वो असली नहीं हैं।

अवश्य पढ़ें: Affiliate Marketing क्या है? एफिलिएट मार्केटिंग से पैसे कैसे कमाएं?

ईरूपी के लिए कोई भी ऑफिशियल ऐप्प लॉन्च नहीं हुई है। यह BHIM App का ही एक भाग है। और इसे भीम ऐप्प के जरिए ही इस्तेमाल किया जा सकता है। इसीलिए थर्ड पार्टी ऐप्प स्टोर्स और वेबसाइट्स से Apk Files Download करने से बचें। और सिर्फ ऑफिशियल ऐप्प स्टोर (गूगल प्ले स्टोर या एप्पल ऐप्प स्टोर) से ही ऐप्प डाउनलोड करें। 

eRUPI vs Cryptocurrecy

अब तक आप यह तो जान चुके है कि eRUPI Cryptocurrency नहीं है। लेकिन सवाल यह है eRUPI vs Cryptocurrency में फर्क क्या है? और यह क्रिप्टोकरेंसी से किस तरह अलग है। तो इन दोनों के बीच काफी फर्क है। पहला तो यह कि क्रिप्टोकरेंसीज Blockchain Technology पर काम करती हैं। और सुरक्षा के लिए Cryptography का इस्तेमाल करती हैं। लेकिन ई-रूपी UPI Platform पर आधारित है।

दूसरा फर्क यह है कि Cryptocurrency को आप आसानी से खरीद और बेच सकते हैं। लेकिन ई-रूपी के साथ ऐसा नहीं है। क्योंकि ई-रूपी वाऊचर, लाभार्थी को ध्यान में रखकर बनाया जाता है। इसीलिए इसे खरीदना और बेचना संभव नहीं है।

अवश्य पढ़ें: Free Website अथवा Blog कैसे बनाऐं और उससे Earning कैसे करें?

तीसरा, क्रिप्टोकरेंसी को एक Decentralized System द्वारा मैनेज किया जाता है। यानि कि इस पर किसी देश या सरकार का कोई नियंत्रण नहीं होता। लेकिन ईरूपी पूरी तरह सरकार के नियंत्रण में है। चौथा, क्रिप्टोकरेंसी को Track नहीं किया जा सकता। लेकिन ई-रूपी को ट्रैक किया जा सकता है।

सारांश

ई-रूपी Digital India मुहिम का एक हिस्सा है, जो Digital Currency की दिशा में देश का पहला कदम है। इसीलिए यह बहुत महत्वपूर्ण है। क्योंकि आगे चलकर इसे भारतीय क्रिप्टोकरेंसी का आधार बनाया जा सकता है। और इस पर देश की पहली क्रिप्टोकरेंसी खड़ी की जा सकती है। खैर, यह तो आने वाला समय ही बताएगा। लेकिन फिलहाल भारत के पास अपनी कोई Digital Currency नहीं है।

FAQs

प्रश्न-1. ई-रूपी क्या है?

उत्तर: ई-रूपी एक डिजिटल भुगतान समाधान (Digital Payment Solution) है, जो UPI Platform पर आधारित है। यह Cashless & Contactless Digital Payment System है, जो Fast & Secure Payment के लिए बनाया गया है।

प्रश्न-2. ई-रूपी वाऊचर क्या है? यह कैसे काम करता है?

उत्तर: ईरूपी वाऊचर एक Digital eVoucher है, जो एक Prepaid Recharge Coupon की तरह काम करता है। इसमें एक निश्चित Amount Stored होता है, जो Reedem करने पर Beneficiary के बैंक अकाउंट में जमा हो जाता है।

प्रश्न-3. ई-रूपी वाऊचर कौन जारी करेगा?

उत्तर: ई-रूपी वाऊचर बैंक जारी करेंगे। इसके लिए 1 बैंकों के साथ साझेदारी की गई है। ये सोलह बैंक हैं:- Axis, ICICI, HDFC, SBI, PNB, Cananra, Kotak, Indian Bank, Bank of Baroda, Imdusid Bank, Union Bank of India, Indian Overseas Bank, UCO Bank, Bank of Maharashtra, Bank of India, Central Bank of India.

प्रश्न-4. क्या ई-रूपी सुरक्षित है?

उत्तर: हाँ, ई-रूपी पूरी तरह सुरक्षित है। इसमें यूजर का Data पूरी तरह गोपनीय रहता है।

प्रश्न-5. ई रूपी ऐप कैसे डाउनलोड करें?

उत्तर: सबसे पहले गूगल प्ले स्टोर में जाइए। और BHIM App डाउनलोड कीजिए। ई-रूपी ऐप इसी में Integrated है। इसीलिए ई रूपी को भीम ऐप के जरिए ही इस्तेमाल किया जा सकता है। इ रूपी के लिए अलग से कोई ऐप नहीं है।

प्रश्न-6. क्या ई रूपी क्रिप्टोकरेंसी है?

उत्तर: नहीं, ई रूपी क्रिप्टोकरेंसी नहीं है। यह एक डिजिटल ई-वाऊचर है, जो एक प्रीपेड कार्ड की तरह काम करता है।

उम्मीद है इस आर्टिकल के जरिए आपको यह समझने में काफी मदद मिली होगी कि eRUPI Kya Hai? और यह कैसे काम करता है? साथ ही इसके क्या-क्या फायदे हैं? और इसे इस्तेमाल कैसे करें? अगर यह आर्टिकल आपको पसंद आया तो इसे Like और Share कीजिए। और ऐसे ही और आर्टिकल्स के लिए टेकसेवी डॉट कॉम को Subscribe कर लीजिए। ताकि जैसे हम कोई नया आर्टिकल पब्लिश करें, आपको सूचना मिल जाए।

अवश्य पढ़ें (खास आपके लिए) :-

Comment