You are here : HomeExplanationSponsored Post

Sponsored Post क्या है? कैसे लिखें, कहाँ से लें और कितना चार्ज करें?

sponsored-post-hindi

अगर आप एक Blogger या Social Media Celebrity हैं तो आपने Sponsored Post का नाम जरूर सुना होगा। लेकिन क्या आपको पता है कि Sponsored Post होती क्या है? और इससे पैसे कैसे कमाये जाते हैं? अगर नहीं तो यह आर्टिकल खास आप ही के लिए है। इस आर्टिकल में आपको Sponsored Post के बारे में पूरी जानकारी मिलेगी। साथ ही स्पॉन्सर्ड पोस्ट के फायदे और नुकसान भी जानने को मिलेंगे। और यह भी जानने को मिलेगा कि कैसे एक Sponsored Post आपका करियर तबाह कर सकती है। तो आइए, शुरू से शुरुआत करते हैं।

Sponsored Post

हाल ही मुझे एक Car कंपनी की तरफ से मेल आया। जिसमें लिखा था कि आप हमारे लिए एक आर्टिकल लिखिए। और उसमें ये-ये बातें बताइए। इसके लिए उन्होंने एक लिस्ट दी थी। इस लिस्ट में गाड़ी की विशेषताओं के साथ-साथ कंपनी की उपलब्धियों का भी जिक्र था। आर्टिकल लिखने के बदले मुझे 70$ (लगभग 5,250 रूपये) की रकम ऑफर हुई। लेकिन मैंने यह कहकर मना कर दिया कि Motor Vehicle हमारे ब्लॉग से जुड़ा विषय नहीं है। इसीलिए हमें माफ करें।

अवश्य पढ़ें: Video SEO क्या है? Youtube Videos का SEO क्यों जरूरी है?

यहाँ मैंने इस घटना का जिक्र सिर्फ इसलिए किया है। ताकि Sponsored Post के बारे में आपको एक आइडिया मिल जाए। शायद आपको समझ में आ गया होगा कि Sponsored Post किस तरह की पोस्ट होती है? और इसके लिए Blogger को भुगतान क्यों किया जाता है? आइए, अब विस्तार से समझते हैं।

Sponsored Post क्या है?

जब आप किसी कंपनी या संस्था से पैसे लेकर उसकी शर्तों के मुताबिक Post लिखते हैं। और उसे अपने Blog पर Publish करते हैं। तो वह Post आपके ब्लॉग के लिए Sponsored Post कहलाती है। Sponsored Post भी एक तरह का Advertisement ही होता है। जिसमें प्रोडक्ट के बारे में विस्तारपूर्वक जानकारी दी जाती है। इसीलिए इसे Detailed विज्ञापन भी कहा जाता है। Sponsored Post को इन तीन बिन्दुओं में भलीभांति समझा जा सकता है :-

1. कोई व्यक्ति, संस्था या कंपनी, अपने या अपने किसी प्रोडक्ट के प्रचार के लिए Sponsored Post लिखने का ऑफर देती है।

अवश्य पढें: ज्यादातर Bloggers निराश होकर Blogging क्यों छोड़ देते हैं?

2. पोस्ट के लिए कुछ शर्तें रखी जाती है। जैसे कि Product की खूबियों का जिक्र करना। या प्रोडक्ट के बारे में थोड़ा बढ़ा चढ़ाकर बताना।

3. एक ब्लॉगर इन शर्तों के अनुसार पोस्ट लिखकर अपने Blog पर Publish करता है। और इसके बदले उसे एक तय राशि अदा की जाती है।

इसी तरह Youtube Videos और Social Media Posts को भी Sponsor किया जाता है। आपने बहुत-से Youtubers को अपने वीडियोज के शुरूआत में यह कहते हुए जरूर सुना होगा। कि This video is sponsored by xyz. xyz की जगह उस कंपनी का नाम होता है, जो उस वीडियो को Sponsor करती है।

Sponsored Post के फायदे

अगर बात करें Sponsored Post के फायदों की। तो इससे Blogger और Sponsor दोनों को फायदा होता है। Blogger को नकद पैसा मिल जाता है। वहीं Sponsor को Target Audience मिल जाती है। साथ ही उसके प्रोडक्ट का प्रचार भी हो जाता है। इससे Sponsor को काफी फायदा होता है।

अवश्य पढ़ें: Tags की मदद से Youtube Videos पर अंधाधुंध Traffic कैसे लें?

अगर आप एक ब्लॉगर हैं। और आप किसी कंपनी के लिए Sponsored Post लिखते हैं। तो आपकी ऑडियंस उस पर आसानी से भरोसा कर लेती है। क्योंकि वह आप पर भरोसा करती है। इसीलिए स्पॉन्सर करने वाली कंपनियाँ इस बात का फायदा उठाती हैं। और आपकी ऑडियंस के जरिए ज्यादा से ज्यादा लोगों तक पहुंचने की कोशिश करती हैं। इससे कंपनी की सेल तो बढ़ती ही है। साथ ही Brand Value में भी ईजाफा होता है। और कंपनी जल्द ही लोगों के बीच पॉपुलर हो जाती है।

Sponsored Post के नुकसान

जब आप पैसों के लालच में आकर ऊलजलूल Sponsored Posts को स्वीकार करना शुरू कर देते हैं। और अपने ही Readers के साथ धोखा करने लग जाते हैं। तो Sponsored Post आपके लिए फायदेमंद नहीं रहती। बल्कि आत्मघाती साबित होती है।

अवश्य पढें: Youtube Videos के Description में कौन-कौनसी 10 चीजें लिखनी जरूरी हैं?

क्योंकि Readers का आपके उपर से विश्वास उठ जाता है। और वे हमेशा के लिए आपके Blog से दूरी बना लेते हैं। और जब Readers ही नहीं रहते तो फिर ब्लॉग किस काम का? यानि कि आपका Blogging Career खत्म हो जाता है। इसीलिए Sponsored Post को कभी भी Readers से ज्यादा महत्व नहीं देना चाहिए।

Sponsored Post कैसे लिखें?

जब कोई कंपनी आपको Sponsored Post लिखने के लिए कहे, तो तुरन्त हाँ न करें। बल्कि पहले उस कंपनी की Official Website और Social Media Accounts को चैक करें। और उस Product को भी भलीभांति चैक करें, जिस पर आप पोस्ट लिखने जा रहे हैं। खासकर कंपनी ने उस प्रोडक्ट को लेकर जो दावे किए हैं, उनकी सच्चाई जरूर चैक करें। और Users के Reviews भी पढ़ें। ताकि आपको पता चल सके कि उस प्रोडक्ट के बारे में लोगों की क्या राय है?

अगर ज्यादातर Reviews Positive हैं, और कंपनी भी Genuine है। तो Sponsored Post को स्वीकार करें। वरना साफ-साफ मना कर दें। अमूमन जो भी कंपनी Sponsored Post ऑफर करती है। वह कुछ शर्तें रखती है। और इसके लिए कंपनी उन तमाम Features की एक लिस्ट देती है। जिनका पोस्ट में जिक्र किया जाना है। अगर आप पोस्ट लिखने जा रहे हैं, तो पहले कंपनी द्वारा बताए गए सभी Features को चैक करें। और पूरी तरह आश्वस्त होने के बाद ही पोस्ट लिखें।

अवश्य पढ़ें: Phone Hack कैसे किया जाता है? फोन हैकिंग के तरीके व बचने के उपाय?

क्योंकि कई बार कंपनियाँ छोटी-सी बात को भी काफी बढ़ा-चढ़ाकर बताती हैंं। और कमियों को छुपा लेती हैंं। इसीलिए अपने स्तर पर Research जरूर करें। पोस्ट भले ही आप किसी कंपनी के लिए लिख रहे होंं। पर उसे पढ़ने वाले आपके Readers ही हैं। इसीलिए Post लिखने से पहले खुद से यह जरूर पूछ लें कि आप जो Post लिखने जा रहे हैं। क्या उससे आपके Readers को कुछ फायदा होगा? क्या उनको कोई ऐसी जानकारी मिलेगी, जो उनके काम आ सके? अगर हाँ, तो Post लिखिए। वरना साफ-साफ मना कर दीजिए।

पोस्ट लिखते वक्त ध्यान देंं

1. Sponsored Post सिर्फ उन्हीं विषयोंं पर लिखिए। जो आपके Blog की Category से मेल खाते हैं। ऐसे विषयों पर Post लिखने से बचिए। जिनका आपके Blog से दूर-दूर तक कोई लेना देना नहीं है।

2. Sponsored Post से आपको और आपके Readers दोनों को फायदा होना चाहिए। अगर आपको पैसे मिल रहे हैं। तो Readers को भी काम की Information मिलनी चाहिए।

3. अगर आप अपने Readers के प्रति ईमानदार हैं। तो उन्हें हर बात सही-सही बताऐं। उनसे कुछ भी न छुपाऐं।

अवश्य पढें: Online Earning Apps, ऑनलाइन कमाई के लिए बेस्ट मोबाइल ऐप्स

4. किसी भी Sponsored Post को पब्लिश करने से पहले उस पर “Sponsored Post” अथवा “Promoted Post” का लेबल जरूर लगाऐं। ताकि आपके Readers को पता चल सके।

Sponsored Post कैसे प्राप्त करें?

अब सवाल यह है कि अपने ब्लॉग के लिए Sponsored Post कैसे प्राप्त करें? तो इसके लिए कोई Portal नहीं है कि आप जाकर रजिस्ट्रेशन करें। और आपको Sponsorship मिल जाए। तो? इसके लिए आपको थोड़ी मेहनत करनी पड़ेगी। यानि कि अपने Blog को इस लायक बनाना पड़ेगा कि Sponsors खुद आपको Contact करें। इसके लिए आपको ये 5 काम करने होंगे :-

1. Professional Look

अपने ब्लॉग को एक Professional Look दीजिए। होमपेज को बिल्कुल नीट एण्ड क्लीन रखिए। Lightweight और Fast थीम यूज कीजिए। Articles को सेक्शन-वाईज व्यवस्थित कीजिए। और अपने Best Articles को Homepage पर प्रमुखता से जगह दीजिए। साथ ही Navigation सिस्टम को इस तरह व्यवस्थित कीजिए कि Blog का कोई भी पेज पहुँच से बाहर न हो।

2. Quality Content

अपने Blog पर अच्छा और Quality Content पोस्ट करें। ऐसा Content, जो Sponsors को अपनी ओर आकर्षित करे। इससे Sponsors खुद आपको Contact करेंगे। और अच्छी कीमत भी देंगे। क्योंकि Content ब्लॉग का Heart (दिल) होता है। और हार्ट जितना ज्यादा हेल्दी और मजबूत होता है, शरीर (Blog) उतना ही स्वस्थ होता है। इसीलिए अपने ब्लॉग के Heart यानि कि Content की सेहत (Quality) पर ध्यान दें।

3. Page For Sponsors

Sponsors की सुविधा के लिए अपने ब्लॉग पर एक Page जरूर बनाइए। और इस पेज में अपने Blog से जुड़ी जरूरी Information शेयर कीजिए। जैसे कि Blog की Alexa Ranking, DA, PA, Monthly Unique Visitor और Page Views की संख्या आदि।

अवश्य पढ़ें: Online Shopping Fraud कैसे किया जाता है? इससे कैसे बचें?

इसके अलावा आप किन-किन विषयों पर Sponsored Post स्वीकार करते हैं? इसका भी उल्लेख कीजिए। अगर आपने किसी Sponsor के साथ काम किया है, तो उसका भी जिक्र कीजिए। और अंत में अपनी Contact Details जरूर दीजिए। ताकि Sponsors आपको Contact कर सकें।

4. Relationship With Brands

जिन Brands के साथ आप काम करना चाहते हैं। उनके साथ Relationship Build कीजिए। उनके Social Media Handles पर जाकर उनके साथ Interact कीजिए। और उन्हें अपने काम के बारे में बताइए। साथ ही यह भी जाहिर कीजिए कि आप उनके साथ काम करना चाहते हैं। इससे Brands को आपके और आपके काम के बारे में पता चलेगा। और जब उनके पास आपके लायक कोई काम होगा। तो वे आपको जरूर Contact करेंगे।

5. Google Ads

अगर आप अपने पसंदीदा Topics पर Sponsored Post पाना चाहते हैं। तो Google Ads आपके लिए सबसे बेस्ट ऑप्शन है। क्योंकि इसकी मदद से आप अपनी Target Audience और Keywords खुद डिसाइड कर सकते हैं। लेकिन इसके लिए आपको थोड़ा सा खर्चा करना पड़ेगा। क्योंकि यह Free नहीं है।

एक स्पॉन्सर्ड पोस्ट के कितने पैसे?

जब आपको पहली बार Sponsored Post का ऑफर मिलता है। तो आपके मन में यह सवाल जरूर होता है कि कितना चार्ज करें? यानि कि Post लिखने के बदले कितने पैसे मांगे? तो मैं आपको बताना चाहूँगा कि इसकी कोई तय रेट नहीं है। क्योंकि इसके पीछे बहुत-सी चीजें काम करती हैं। जैसे कि Blog की Ranking, Niche, DA, PA, Unique Visitor और Page Views की संख्या आदि। इसीलिए एक ही पोस्ट की अलग-अलग Blog के लिए अलग-अलग कीमत होती है।

अवश्य पढ़ें: Blue Light क्या है? यह आँखों के लिए कितनी घातक है?

अगर आपका Blog एक ‘Hindi Blog‘ है। और Monthly Unique Visitors की संख्या 10,000 या इससे कम है। तो आप 50 से 150 डॉलर तक आराम से चार्ज कर सकते हैं। यह एक अनुमानित आंकड़ा है। अगर आपके Content में दम है। और Blog की Ranking और DA-PA भी अच्छा है, तो आप ज्यादा भी मांग सकते हैं।

उम्मीद है, इस आर्टिकल के जरिए आपको Sponsored Post Kya Hai? इसके बारे में काफी उपयोगी जानकारी मिली होगी। अगर यह आर्टिकल आपको पसंद आया। तो इसे Like और Share कीजिए। और ऐसे ही और ज्ञानवर्धक आर्टिकल्स के लिए टेकसेवी डॉट कॉम को Subscribe कर लीजिए। ताकि जैसे ही हम कोई नया आर्टिकल पब्लिश करें, आपको नोटिफिकेशन मिल जाए।

अवश्य पढ़ें (खास आपके लिए) :-

Comment